Police raids on lodging and boarding in Bhiwandi

  • आरोपी 2 दिसंबर तक रिमांड पर

उल्हासनगर. उल्हासनगर कैम्प 5 भाटिया चौक निवासी युवा व्यापारी पवन अच्छरा की निर्मम हत्या के मामले में पुलिस ने तीसरे आरोपी को गिरफ्तार किया है. जिसे न्यायालय द्वारा 2 दिसंबर तक पुलिस कस्टडी  में रखने का आदेश दिया है. वहीं इससे पहले गिरफ्तार मुख्य आरोपी दीपक चेतन गोकलानी और उसके नौकर की पुलिस कस्टडी 26 नवंबर तक थी जिसे कोर्ट ने 1 दिसंबर तक के लिए बढ़ा दिया है. 

शनिवार को पुलिस को तीसरे आरोपी शंकर गुल वलेच्छा को गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की है. बताया जा रहा है कि शंकर वलेच्छा ने दीपक गोकलानी से 30 तोला सोना लिया था. ज्ञात हो कि कैंप 5 भाटिया चौक निवासी पवन अच्छरा अपने घर से इसी महीने की 16 नवंबर से गुमशुदा था. 

कार से मिली थी लाश

हिललाईन पुलिस ने नवंबर  की सुबह कैंप 5 नेताजी चौक पर नेताजी स्कूल के पास कचरे के डिब्बे के पास खड़ी मारुति बलेनो  कार से पवन की लाश बरामद की थी, जिसमें इस हत्या के मामले में पुलिस ने सबसे पहले मृतक पवन के दोस्त दिपक गोकलानी और उसके आरोपी नौकर को गिरफ्तार किया था, यह दोनों 1 दिसंबर तक रिमांड पर है. मुख्य आरोपी

किया गया था कैंडल मार्च का आयोजन 

दीपक गोकलानी ने पुलिस की पूछताछ में कबूल किया है कि उसने पैसों की लेन-देन को लेकर पवन की हत्या कर उसकी लाश नेताजी चौक पर खड़ी मारुति बलेनो कार की डिक्की में रख दी थी. बहरहाल हिललाईन पुलिस मामले की गहराई से छानबीन कर रही है. परिवारजनों द्वारा उचित न्याय की मांग की जा रही है. शुक्रवार की शाम स्थानीय कैम्प क्रमांक 5 में पवन अच्छरा की स्मृति और सभी आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर कैंडल मार्च का आयोजन किया गया था. जिसमें स्थानीय नगरसेवक भरत गंगोत्री सहित बड़ी संख्या में परिसर के लोगों ने भाग लिया और पवन को अपनी अपनी ओर से श्रद्धाजंलि अर्पित की थी.