Rs 61,400 as punitive action-penalty for violation of rules. Incurred

नवी मुंबई. नवी मुंबई महानगर पालिका ने 28 जून से ब्यूटी पार्लर, सैलून एवं नाभिक दुकानों को चालू करने की परमिशन दे दी है लेकिन कोरोना के भय में अभी भी अधिकांश दुकानें बंद पड़ी हैं. रविवार की छुट्टी एवं सोमवार को हफ्ते के पहले कार्यदिवस पर भी सैलूनों में ताला लटका नजर आया.  कुछ दुकानदारों से जानकारी मिली कि राज्य सरकार ने मिशन बिगन अगेन के पैरा 4 की जिन शर्तों के तहत सैलूनों को चालू करने की परमिशन दी है वह व्यवहारिक नहीं है.

बाल, दाढ़ी कटवाने वाले नागरिकों को पहले से अपाईंट लेकर आने और हर ग्राहक का बाल काटने के बाद कुर्सी को सैनेटाईज करने एवं दूसरे इंतजाम करने को लेकर भी नाभिक तैयार नहीं है. सबसे बड़ी वजह पीपीई किट पहनकर काम करने की है जिसे अधिकांश नाई मानने को तैयार नहीं है. नाभिक समाज के प्रतिनिधियों की दलील है कि उनके सामने अब जीने मरने की नौबत आ गयी है लेकिन सैलूनों को चालू करने के लिए सरकार ने ऐसी शर्त रख दी है जिसे रोज पूरा करना संभव नहीं है. इसलिए अधिकांश सैलून चालक खुद से दुकान खोलने के पक्ष में नहीं हैं. उनका कहना है कि जब हालात अच्छे होंगे तब देखेंगे.