Shiv Sena leader Suresh Mhatre resigns from Shiv Sena

    भिवंडी. भिवंडी (Bhiwandi) लोकसभा क्षेत्र के ताकतवर शिवसेना (Shiv Sena) नेता पूर्व जिला परिषद सभापति सुरेश म्हात्रे (Suresh Mhatre) उर्फ बाल्या मामा ने निजी कारणों का हवाला देते हुए शिवसेना को जय महाराष्ट्र कहते हुए शिवसेना के सभी राजनीतिक पदों से ठाणे जिला शिवसेना प्रमुख प्रकाश पाटिल को इस्तीफा सौंप दिया है। सुरेश म्हात्रे द्वारा शिवसेना को जय महाराष्ट्र कहने के बाद आगामी समय में कांग्रेस पार्टी का हाथ थामने की अटकलें तेज हो गई हैं।

    गौरतलब है कि भिवंडी लोकसभा के दिग्गज शिवसेना नेता एवं ठाणे जिला परिषद पूर्व सभापति सुरेश म्हात्रे उर्फ बाल्या मामा ने निजी कारणों का हवाला देते हुए सभी पदों से अपना इस्तीफा ठाणे जिला शिवसेना प्रमुख एवं महामंडल अध्यक्ष प्रकाश पाटिल को सौंप दिया है। भिवंडी लोकसभा क्षेत्र के दिग्गज नेता सुरेश म्हात्रे उर्फ बाल्या मामा 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के संभावित प्रत्याशियों में गिने जाते थे, बावजूद टिकट नहीं मिलने से वह मैदान से हट गए थे। भिवंडी लोकसभा क्षेत्र में सुरेश उर्फ बाल्या मामा की मतदाताओं पर मजबूत पकड़ मानी जाती है। लोकसभा क्षेत्रवासियों की मानें तो सुरेश उर्फ बाल्या मामा कांग्रेस में प्रवेश करते हैं तो भिवंडी में कांग्रेस पार्टी की ताकत में भारी इजाफा होना तय है।कांग्रेस में जाने की अटकलों से भाजपा सहित अन्य राजनीतिक दलों में खलबली मच गई है।

    कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल

    विदित हो कि 2 माह पहले कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष नाना पटोले भिवंडी दौरे के दौरान सर्वप्रथम गुंदवली स्थित सुरेश म्हात्रे उर्फ बाल्या मामा के घर गए थे तब से ही शिवसेना दिग्गज नेता बाल्या मामा द्वारा कांग्रेस का हाथ थामने की अटकलें लगाई जा रही थी। शिवसेना नेता बाल्या मामा ने उक्त संबंध में कोई प्रतिक्रिया देने से इंकार किया और कहा कि मेरा राजनीतिक जीवन बेहद बेदाग है। कार्यकर्ता ही मेरी ताकत हैं। समय आने पर सबको पता लग जाएगा।