Shopkeepers on the road against lockdown

    नवी मुंबई. राज्य सरकार के आदेशों का पालन करते हुए पनवेल महानगरपालिका (Panvel Municipal Corporation) ने अत्यावश्य सामग्री की दुकानों को छोड़कर बाकी सभी दुकानों को बंद (Shops Closed) करा दिया है। सरकार के द्वारा शुरू किए गए इस लॉकडाउन (Lockdown) के खिलाफ खारघर (Kharghar) के दुकानदारों ने सड़क पर उतर कर राज्य सरकार और मनपा के फैसले के खिलाफ विरोध (Protest) प्रदर्शन किया।

    बुधवार को खारघर में खारघर एकता व्यापारी एसोसिएसन के बैनर तले यहां के दुकानदारों ने सड़क पर उतर के राज्य सरकार के फैसले की आलोचना की। दुकानदारों का कहना है कि विगत कुछ माह से कारोबार पटरी पर आ रहा था, लेकिन अब सरकार ने कोरोना की रोकथाम की आड़ में दुकानदारों को कंगाल करने का मन बना लिया है। कोरोना के नियमों का पालन करते हुए दुकानदार अपना कारोबार जारी रखना चाहते हैं। लेकिन राज्य सरकार इसे अनुमति देने की बजाए पुलिस का सहारा लेकर दुकानदारों के साथ अन्याय कर रही है।

    मनपा कमिश्नर को दिया निवेदन

    दुकानों को बंद कराने के फैसले को अन्याय कारक बताते हुए खारघर एकता व्यापारी एसोसिएशन ने पनवेल महानगरपालिका के कमिश्नर सुधाकर देशमुख को निवेदन पत्र दिया है। जिसमें दुकानदारों ने अपनी व्यथा को व्यक्त करते हुए मनपा कमिश्नर से कम से कम दुकानों में आलू-प्याज बेचने की अनुमति देने का आग्रह किया है। दुकानदारों का कहना है भूखों मरने से बेहतर है अब आलू-प्याज बेचकर दो वक्त की रोटी की व्यवस्था तो कर सकें।