Strengthen the wall of Varala Devi pond for the safety of citizens, Nilesh Chaudhary's demand from t

    भिवंडी. भारी बरसात के कारण वराला देवी तालाब (Varala Devi Pond) ओवरफ्लो (Overflow) हो रहा है। तालाब से पानी ओवरफ्लो होकर कामतघर परिसर (Kamatghar Complex) स्थित रहिवासी क्षेत्र चंदन बाग (Chandan Bagh) सहित आसपास स्थित रहिवासी परिसरों की तरफ बहने से करीब 25 हजार लोगों की जीवन सुरक्षा को गंभीर खतरा पैदा हो गया है। चंदन बाग स्थित पूर्व नगरसेवक साईंनाथ पवार की इमारत की बाउंड्री वाल भारी पानी के बहाव के कारण भरभराकर गिर जाने से लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। क्षेत्रीय भाजपा वरिष्ठ नगरसेवक नीलेश चौधरी ने हजारों रहिवासियों की सुरक्षा हेतु तालाब की बाउंड्रीवॉल को मजबूत प्रदान करने हेतु आवश्यक कदम उठाए जाने की मांग महानगरपालिका कमिश्नर सुधाकर देशमुख की है। 

    गौरतलब है कि भारी बरसात के कारण वराला देवी तालाब ओवरफ्लो होकर कामतघर क्षेत्र स्थित चंदन बाग की तरफ ओवरफ्लो हो रहा है। वराला देवी तालाब की बाउंड्री वाल से पानी ओवरफ्लो होकर कामतघर मार्ग से गुजर कर चंदन बाग स्थित नालों में समाता है बावजूद नालों में पानी माफियाओं द्वारा कपड़ा डाईंगों में आपूर्ति हेतु अवैध तरीके से पाइप लाइनों का जाल बिछाया गया है। बरसात के दौरान तालाब का ओवरफ्लो पानी नालों में डाली हुई पानी की पाइपों में नहीं समा पाता जिससे पानी रिटर्न होकर जल सैलाब की स्थिति में समूचे रहिवासी परिसर में बहता है। भारी बारिश की वजह से तालाब से लाखों लीटर पानी ओवरफ्लो होने से क्षेत्र वासियों की जीवन सुरक्षा को गंभीर खतरा पैदा हो गया है। पानी घरों में घुसने से लोग परेशानी झेल रहे हैं। चंदन बाग स्थित पूर्व नगरसेवक साईंनाथ पवार की इमारत की बाउंड्रीवाल ओवरफ्लो से हुए जल जमाव की वजह से भरभरा कर नीचे गिर गई है जिससे लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। क्षेत्र में हुए भारी जल-जमाव को देखते हुए क्षेत्रीय भाजपा वरिष्ठ नगरसेवक निलेश चौधरी और पूर्व नगरसेवक साईंनाथ पवार सहित क्षेत्र के सम्मानित लोगों ने समूचे क्षेत्र का दौरा कर वस्तुस्थिति का जायजा लेकर रहिवासियों को धैर्य बंधाया। 

    महानगरपालिका  प्रशासन लोगों की जान से कर रहा खिलवाड़

    भाजपा वरिष्ठ नगरसेवक नीलेश चौधरी ने महानगरपालिका प्रशासन की लापरवाही पर गंभीर तंज कसते हुए कहा कि महानगरपालिका प्रशासन हजारों नागरिकों की जीवन सुरक्षा की अनदेखी कर रहा है। प्रतिवर्ष वराला देवी तालाब से लाखों लीटर शुद्ध पेयजल ओवरफ्लो होकर चंदन बाग रहिवासी क्षेत्र में बहता है जिससे लोग भयंकर तकलीफ झेलते हैं। बरसात के दौरान समूचे क्षेत्र में जलजमाव होने से हजारों लोगों को दुख झेलना पड़ता है। महानगरपालिका प्रशासन सब कुछ जानबूझकर भी मूकदर्शक बना हुआ है। चौधरी ने महानगरपालिका प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि प्रशासन हजारों रहिवासियों की जीवन सुरक्षा हेतु तालाब की बाउंड्री वाल को ऊंचा कर मजबूत करे अन्यथा आंदोलन को विवश होंगे जिसकी जिम्मेदारी महानगरपालिका प्रशासन की होगी।