प्लाटिक के चावल होने का संदेह, चावल की 300 बोरियां सील

उल्हासनगर. दो दिन पहले शहर के एक व्यक्ति के घर हमेशा की तरह चावल पकाए गए थे. चावल को बनाने के बाद घर वालो को चावल बनावटी लगे. चावल नकली अर्थात प्लास्टिक के होने की बात सामने आ रही है. इस मामले  की शिकायत व सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के चलते नाप तोल विभाग ने सबंधित विभाग ने दुकानदार के गोदाम में रखी लगभग 300 बोरियां को सील कर करते हुए आगे की जांच शुरू की है. 

जानकारी के अनुसार उल्हासनगर कैम्प 

क्रमांक 2 के आजादनगर परिसर के निवासी  सुरज सिंग ने अमरधाम चौक परिसर स्थित  गणेश मार्केट नामक दुकान से 25 किलो की चावल की एक बोरी खरीदी. घर में बने चावल खाना शुरू किए गए तो सभी को अहसास हुवा की चावल में कुछ गड़बड़ है. पके चावल को गोल गोल बनाकर फर्श पर पटकने पर वह डेढ़ से 2 फुट उड़ने लगे. सूरज सिंग ने यह विडिओ वायरल किया. वहीं इसकी शिकायत अन्न व औषधि विभाग को ई मेल के माध्यम से की. 

महकमे के अधिकारी वीरकायदे ने दुकान में आकर प्रत्यक्ष भेंट दी व चावल के सैंपल लेकर प्रयोगशाला भेजने की जानकारी पत्रकारों को दी. वीरकायदे ने नाप तोल विभाग के अधिकारी आरएस भोई को गोदाम में जाकर माल सील करने के आदेश दिए ताकि सच्चाई का पता लग सके.