दो दशक के बाद ठाणे कांग्रेस को मिला पूर्णकालिक अध्यक्ष

नगरसेवक विक्रांत चव्हाण ने संभाला ठाणे कांग्रेस की कमान

ठाणे. पिछले दो दशक से ठाणे कांग्रेस गुटबाजी से जूझ रही है. यही कारण है अब तक यहां पर किसी को पूर्णकालिक अध्यक्ष नहीं बनाया गया. आखिरकार प्रदेश नेतृत्व ने ठाणे मनपा में पार्टी के वरिष्ठ नगरसेवक विक्रांत चव्हाण को  शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त कर एक पूर्णकालिक अध्यक्ष दिया और उन्होंने शहर के सभी कांग्रेस पदाधिकारियों तथा कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में यह कमान संभाल ली है. 

पार्टी के मध्यवर्ती कार्यालय में चव्हाण ने वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया. वैसे चव्हाण की छवि तेज-तर्रार चेहरे वाले नेता के रूप में रही है. वहीं राजनीतिक गलियारों में इस बात की विशेष चर्चा हो रही है कि यदि पहले की तरह पार्टी के अंदर गुटबजी रही तो आगे कांग्रेस का मालिक भगवानन ही होगा.

हालांकि पदभर ग्रहण करने के बाद चव्हाण ने विश्वास जताया कि वे ठाणे शहर में पार्टी को संजीवनी देंगे. इसके साथ ही उन्होंने इस बात का विशेष जिक्र किया कि पार्टी को गुटबाजी से मुक्ति मिले, इसके लिए वे सभी के साथ मिलकर काम करने को उतावले हैं. इस पद ग्रहण समारोह में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष मनोज शिंदे और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुरेश ठाणेकर ने उन्हें पदभार संभालने के साथ ही अध्यक्ष की कुर्सी पर विराजमान होने का आग्रह किया. इस अवसर पर  महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस महासचिव सुमन अग्रवाल, ठाणे शहर (जिला) कांग्रेस कमेटी के महासचिव सचिन शिंदे, वरिष्ठ नेता डॉ. जे. बी. यादव, पूर्व कांग्रेस गटनेता संजय घाड़ीगवकर, सेवा दल के ठाणे संघटक शेखर पाटिल, रविन्द्र आंग्रे, युवक अध्यक्ष जिया शेख, मंजूर खत्री सहित पार्टी के तमाम पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे.