किसानों को न्याय दिलाने डॉ. बाबासाहेब के वंशज मैदान में उतरे

कल्याण. आदिवासी किसानों की खड़ी फसल पर दबंग भूमंफियाओं द्वारा रात में जेसीबी, ट्रैक्टर चलाकर नष्ट करने के मामले में अब तूल पकड़ने लगा है और पीड़ितों की फरियाद पर भारतीय संविधान के निर्माता भारत रत्न डॉ. बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के वंशज भी कल्याण तहसील वाघेरेपाडा गांव के आदिवासी किसानों को न्याय दिलाने के लिए मैदान में उतर आए हैं.

बाबासाहेब के पौत्र रिपब्लिकन सेना के संस्थापक अध्यक्ष आंनदराज आंबेडकर ने पुलिस प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर पीड़ित आदिवासी किसानों की शीघ्र शिकायत दर्ज कर न्याय नहीं दिलाया गया, तो रिपब्लिकन सेना कल्याण में रिपब्लिकन सेना स्टाइल में उग्र आंदोलन करेगी, जिसकी सारी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी. इससे जहां आदिवासी किसानों को न्याय की उम्मीद की एक किरण जगी है, वहीं दबंग भूमफियाओं की मुश्किलें बढ़ गई हैं.

गौरतलब हो कि कल्याण के तहसील के वाघेरे पाडा गांव में आदिवासी गरीब किसानों सुरेश सोमा, सावलराम और काथोड पुजारी की शिकायत है कि उनकी खड़ी फसल पर 25-26 अक्टूबर की रात उल्हासनगर के दबंग पूंजीपति भूमाफियाओं ने जेसीबी, ट्रैक्टर चलवाकर उनकी फसल नष्ट कर दी थी, जिसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई गई है.