... then religious and social institutions come forward to stop the corona

    भिवंडी. कोरोना (Corona) देश में दूसरी बार बेहद तेजी से दस्तक दे रहा है। आगामी दिनों में विविध धर्मों का त्यौहार (Festival) मनाया जाने वाला है। उक्त मुद्दे को ध्यान में रखकर भिवंडी महानगरपालिका (Bhiwandi Municipal Corporation) कमिश्नर डॉ. पंकज आशिया (Commissioner Dr. Pankaj Asiya) ने भिवंडी की विभिन्न धार्मिक संस्थाओं के प्रमुख पदाधिकारियों मंदिर के ट्रस्टी, पुजारी, मस्जिद के ट्रस्टी, मौलाना और उलेमाओं की एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया। 

    बैठक की अध्यक्षता करते हुए कमिश्नर ने कहा कि सब अपना त्यौहार खुशी से मनाएं। नागरिक अपने स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रह कर कोरोना रोग से बचने के लिए सरकार द्वारा दिए गए मार्गदर्शन और नियमों का पालन गंभीरता से करें। सभी धार्मिक संस्थाएं टीकाकरण के कार्य और कोरोना वायरस से बचने के लिए जनजागृति के लिए आगे आकर शासन और महानगरपालिका का सहयोग करें। मनपा कमिश्नर ने कहा कि यदि सभी फिर से लॉकडाउन नहीं चाहते हैं तो धार्मिक संस्थाओं से जुड़े लोग आगे आकर कोरोना रोग की रोकथाम में शासन, प्रशासन की मदद करें। मनपा मुख्यालय सभागृह में आयोजित बैठक में अतिरिक्त आयुक्त ओमप्रकाश दिवटे, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. के आर खरात, विश्व आरोग्य संगठन के भिवंडी समन्वयक डॉ. किशोर चौहान, चिकित्सा अधिकारी वर्षा बारोड, डॉक्टर मनीषा पाटिल फड़के, मनपा जनसंपर्क अधिकारी मिलिंद पलसुले सहित तमाम धार्मिक सामाजिक संस्थाओं के जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

    वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित : कमिश्नर 

    गौरतलब हो कि भिवंडी महानगर पालिका क्षेत्र में कोरोना मरीज की बढ़ती संख्या को देखते हुए इसे रोकने के लिए जनजागृति करने के लिए सभी प्रमुख धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक महानगरपालिका कमिश्नर डॉ. पंकज आशिया की अध्यक्षता में महानगरपालिका कार्यालय में आयोजित की गई। बैठक को संबोधित करते हुए कमिश्नर आशिया ने कहा कि कोरोना के पिछले दौर में भिवंडी की सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं ने बहुत अच्छा काम किया है, जिसके कारण आज भी भिवंडी सुरक्षित है। भिवंडी में कोरोना संक्रमित मरीजों और मृतकों की संख्या अन्य शहरों की अपेक्षा बहुत कम रही है। कमिश्नर आशिया ने कहा कि फिर से शहर में कोरोना बढ़ रहा है जिसको रोकने के लिए धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं के लोगों को अधिक संख्या में आगे आना चाहिए। जिन लोगों को टीका लगना है उन्हें टीका लगाने के लिए प्रेरित करना होगा और हम सबको मिलकर यह विश्वास दिलाना होगा कि कोरोना की वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है।

    अपनी सुरक्षा के लिए निर्देशों का पालन जरूरी

    प्रत्येक नागरिक को अपने स्वास्थ्य की सुरक्षा स्वयं करनी चाहिए। इस संदर्भ में सरकार द्वारा सुझाए गए नियम जैसे मास्क धारण करना, सुरक्षित दूरी बनाए रखना, साबुन से बार-बार हाथ धोना, सेनीटाइजर का प्रयोग करना आदि नियमों का पालन सभी को करना चाहिए। भीड़भाड़ वाली जगहों से बचना साथ में धार्मिक या सामाजिक कार्यक्रमों में भीड़ न इकट्ठे होने देना जैसे नियम को सख्ती से पालन करना होगा। कमिश्नर आशिया ने बताया कि भिवंडी में परशुराम टावरे स्टेडियम के पास स्थित खुदाबख्श हाल में कोरोना के टीकाकरण का कार्य जारी है। पूरे शहर में 3 जगह वैक्सीन देने का काम सुबह 9:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक किया जा रहा है। यदि जरूरत पड़ी तो वराल देवी मंगल कार्यालय में फिर से कोरोना सेंटर बनाए जाने की तैयारी है। मनपा कमिश्नर आशिया ने कहा कि किसी को घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन सावधान रहना भी जरूरी है। 

    मोहल्ला क्लीनिक की प्रशंसा

    कमिश्नर आशिया ने संकटकाल के दौरान भिवंडी में शुरू किए गए मोहल्ला क्लीनिक की मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए उसके योगदान की सराहना की और कहा कि फिर से मोहल्ला क्लीनिक को शुरू किया जाना चाहिए, उसके लिए शासन-प्रशासन से हरसंभव मदद उपलब्ध कराई जाएगी। कमिश्नर आशिया ने शहरवासियों को भरोसा देते हुए कहा कि भिवंडी महानगरपालिका के पास कोविड-19 टेस्ट कराने की लैब है, जिसमें हर रोज 300-400 लोगों की जांच हो सकती है। यदि जरूरत होगी तो घर में भी कोरनटाइन किया जाएगा। किसी को जबरन अलग से कोरानटाइन सेंटर में नहीं भेजा जाएगा। टीकाकरण के संबंध में कमिश्नर ने कहा कि धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं को वैक्सीन टीकाकरण के मामले में जोर-शोर से प्रचार प्रसार करना होगा। यदि टीकाकरण का लक्ष्य पूरा हो जाएगा तो टीकाकरण केंद्र बढ़ाने के लिए राज्य और केंद्र सरकार से मांग की जाएगी।

    लॉकडाउन टालने के लिए करें सहयोग

    भिवंडी मनपा कमिश्नर डॉ. पंकज आशिया ने कहा कि यदि पिछली बार की तरह लॉकडाउन नहीं चाहते हैं तो सभी को आगे आकर कोरोना रोग नियंत्रण के लिए सरकार द्वारा जारी किए गए सभी निर्देशों का कड़ाई से पालन करने का अभियान चलाना होगा और कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण करने के लिए तमाम नागरिकों को प्रेरित करना होगा।