गणेश नाईक को जान से मारने की धमकी

  • भाजपा नेताओं ने पुलिस आयुक्त को दी शिकायत

नवी मुंबई. पूर्व मंत्री एवं ऐरोली के भाजपा विधायक गणेश नाईक को जान से मारने की धमकी का मामला सामने आया है. मिली जानकारी के अनुसार नाईक को यह धमकी दिघा में आयोजित महाविकास आघाड़ी कार्यकर्ता के कार्यक्रम के दौरान दी गयी. बताया जा रहा है कि यहां महाविकास आघाड़ी के एक पदाधिकारी के जनसंपर्क कार्यालय का उद्धाटन चल रहा था जहां राकां पदाधिकारी प्रशांत पाटिल ने तलवार उठाकर बोला कि यह तलवार गणेश नाईक के लिए है क्या. इस दौरान महाआघाड़ी के मंत्री जितेन्द्र आव्हाड और पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के उपस्थित रहने का दावा किया गया है.

भाजपा नेताओं ने इसे अपने नेता गणेश नाईक का अपमान और जान का जोखिम बताते हुए पुलिस आय़ुक्त के पास शिकायत की है. महापौर जयवंत सुतार के नेतृत्व में भाजपा के एक शिष्टमंडल ने पुलिस आयुक्त बिपिन कुमार सिंह को निवेदन देकर सार्वजनिक धमकी देने वाले व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाी की मांग की है.

महापौर जयवंत सुतार ने कहा कि जिस गणेश नाईक ने नवी मुंबई की 45 साल तक सेवा की. 15 वर्षों तक मंत्री रहकर जनता के लिए तमाम निर्णय एवं शहर के विकास के लिए प्रयत्न किया ऐसे समर्पित और सम्मानित नेता के प्रति खुले मंच से जान मारने की धमकी देना कई संकेत देता है.

नाईक परिवार को महाआघाड़ी नेताओं से खतरा

जयवंत सुतार ने कहा कि यह घटना महाआघाड़ी नेताओं के दिल की बात है जो जुबान पर आ गयी है. भाजपा नेता संजीव नाईक, संदीप नाईक, अनंत सुतार आदि पदाधिकारियों के साथ पुलिस मुख्यालय पहुंचे महापौर ने कहा कि खुली धमकी से उनके नेता और नाईक परिवार के लिए खतरा पैदा हो गया है, जिनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस और सरकार की है. बता दें कि भाजपा ने इस संदर्भ में मुख्यमंत्री समेत तमाम लोगों को निवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है.