मुलुंड-ठाणे के बीच चलने वाली बसों के फेरियों से टीएमटी की बढ़ी आमदनी

  • प्रतिदिन हो रही है 12 लाख की आमदनी

ठाणे. वैश्विक महामारी कोरोना के आर्थिक संकट से गुजर रही ठाणे परिवहन सेवा (टीएमटी) को मुलुंड से ठाणे के बीच चलने वाली बसों का आधार मिला हैं. क्योंकि इस रूट पर प्रतिदिन ठाणे परिवहन प्रशासन को करीब 12 लाख रुपए से अधिक की आमदनी हो रही हैं. 

गौरतलब है कि मार्च महीने में कोरोना के दस्तक के बाद आए आम लोगों की लाइफलाइन मानी जाने वाली लोकल सेवा बन्द हो गई थी. इस वैश्विक महामारी का असर बसों के संचालन पर भी पड़ा था. मार्च-अप्रैल और महीने में लॉकडाउन के दौरान सिर्फ कुछ अत्यावश्यक संचालन को छोड़कर बाकी सभी ठाणे परिवहन सेवा की बसें भी बन्द थी. 

टीएमटी बस ही एकमात्र सहारा

हालांकि धीरे-धीरे लॉकडाउन शिथिल हुआ और अनलॉक शुरू हुआ. जिसमें ऑटो रिक्शा, बस और निजी वाहनों के आवागमन की शुरुआत हुई, लेकिन वहीं दूसरी तरफ मुंबई की जीवन रेखा लोकल ट्रेन आज भी कुछ लोगों के लिए मर्यादित तौर पर शुरू हैं. ऐसे समय में नौकरी पेशा वालों के लिए टीएमटी बस ही एकमात्र सहारा बना हुआ हैं और ठाणे कर भी इसका बखूबी फायदा उठाते दिखाई दे रहे हैं. पहले जहां लोग नौकरी पर जाने के लिए लोकल ट्रेन पकड़ने के लिए ठाणे स्टेशन जाया करते थे वे अब मुलुंड की तरफ अधिक जा रहे हैं क्योंकि मुलुंड से बेस्ट की कई बसें विभिन्न स्थानों के लिए जाती हैं. इसलिए पहले जहां ठाणे से मुलुंड के मार्ग पर चलने वाली टीएमटी बस का आय प्रतिदिन 8 लाख रुपए था. वह अब बढ़कर 12 लाख रुपए प्रतिदिन पहुंच गई हैं. इसलिए इस दैनिक आमदनी को देखते हुए ठाणे परिवहन प्रशासन ने इस रूट पर बसों की फेरियां भी बढ़ा दी. जिसका लाभ ठाणे कर ले रहे हैं.

एक दिन में 66 फेरी

मुलुंड में बेस्ट बसों का 2 से 3 डिपो हैं, जहां से मुंबई के विभिन्न हिस्सों के बसों को चलाया जाता हैं. जबकि ठाणे में बेस्ट की बसें जरूर मर्यादित तौर पर चलती हैं, लेकिन बेस्ट का बस डिपो नहीं होने के कारण लोगों को बसों में बैठने को नहीं मिलता हैं. साथ ही लोकल ट्रेन बन्द है इसलिए लोग मुंबई के विभिन्न हिस्सों में आने-जाने के लिए मुलुंड स्थित बस डिपो का सहारा ले रहे हैं. पहले इस मुलुंड और ठाणे रूट पर सिर्फ 2 बसों का संचालन परिवहन प्रशासन करता था, लेकिन अब आमदनी बढ़ने से बसों की संख्या और फेरियों में भी वृद्धि कर दी गई हैं. ठाणे परिवहन प्रशासन द्वारा मिली जानकारी के अनुसार वर्तमान समय में इस रूट पर करीब 66 फेरियां बढ़ा दी गई हैं जिसके कारण टीएमटी के कुल दैनिक कमाई में 5 से 8 लाख की वृद्धि हुई हैं. जो ठाणे परिवहन सेवा के लिए राहत की बात मानी जा रही हैं.