स्वच्छता के लिए भूमिगत कचरा पेटी, प्रयोग के तौर पर 2 ठिकानों पर निर्माण

नवी मुंबई. स्वच्छता के मामले में नवी मुंबई मनपा को देश में प्रथम क्रमांक पर लाने का संकल्प मनपा आयुक्त के द्वारा लिया गया है. इस मामले में स्वच्छता को और अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए मनपा के द्वारा भूमिगत कचरा पेटी का 2 ठिकानों पर प्रयोग के तौर पर निर्माण कराया गया है.

भूमिगत कचरा पेटी स्वच्छता के लिए कारगर साबित हो सकती है. इस संकल्पना के साथ मनपा आयुक्त अभिजीत बांगर के मार्गदर्शन में प्रयोग के तौर पर भूमिगत कचरा पेटी का निर्माण कराया गया है. प्रयोग के तौर पर एल एंड टी सीवुड्स कंपनी की सीआरएस निधि से नेरुल में पामबीच मार्ग से लगे श्री बामनदेव भूमिगत मार्ग व श्री गणेश तालाब के पास भूमिगत कचरा पेटी बनाई गई है. जिसका उद्घाटन मनपा की अतिरिक्त आयुक्त सुजाता ढोले के हाथों किया गया.

कचरे के वर्गीकरण की व्यवस्था मनपा के द्वारा प्रयोग के तौर पर बनाई गई भूमि कचरा पेटी में सूखे व गीले कचरा को डालने की अलग-अलग व्यवस्था की गई है. जिसके ढक्कन को पैर से खोलने और बंद करने की व्यवस्था की गई है. दोनों प्रकार के कचरा के लिए इसमें 1.1 क्यूबिक मीटर की क्षमता है. इन कचरा पेटियों से रिफ्यूज कॉम्पक्टर व हाइड्रोलिक सिस्टम के द्वारा कचरा ले जाने की व्यवस्था मनपा के द्वारा की गई है.