Bhiwandi cut off from local rail service for a year

    भिवंडी. वैश्विक महामारी कोरोना (Corona) की शुरुआत से ही दिवा-वसई (Diva-Vasai) को जोड़ने वाली डीएमयू ट्रेन (DMU Train) कोरोना संक्रमण बचाव के लिए रेल मंत्रालय द्वारा बंद (Close) कर दी गई है। करीब 15 माह से दिवा-वसई डीएमयू ट्रेन बंद होने से हजारों यात्रियों को आवागमन में भारी दिक्कतें झेलनी पड़ रही है। 

    अनलॉक घोषित होने पर यात्रियों को आस बंधी थी कि मुंबई लोकल सेवा की तर्ज पर मध्य रेल व्यवस्थापन दिवा-वसई ट्रेन को भी शुरू करने की मंजूरी देगा जो पूर्णतया बेमानी साबित हुई है। उक्त रेल मार्ग से यात्रा करने वाले सैकड़ों यात्री नित्य भिवंडी रोड स्टेशन पर अधिकारियों से ट्रेन कब शुरू होगी पूंछते दिखाई पड़ते हैं। ट्रेन शुरू होने की मंजूरी न होने की बात कह कर अधिकारी पल्ला झाड़ लेते हैं। जागरूक यात्रियों ने रेल मंत्री पीयूष गोयल एवं मध्य रेलवे के महाप्रबंधक से कोरोना संक्रमण बचाव गाइडलाइन अनुपालन को सुनिश्चित कर ट्रेन शुरू किए जाने की मांग की है।

    गत वर्ष 25 मार्च से बंद

    गौरतलब हो कि दिवा-वसई, कल्याण-मुंबई शहर को जोड़ने वाली एकमात्र यात्री ट्रेन गत वर्ष 25 मार्च से कोरोना प्रसार नियंत्रण के लिए रेल मंत्रालय द्वारा बंद कर दी गई है। कोरोना संक्रमण घटने के उपरांत हुए अनलॉक में यात्रियों को आस बंधी थी कि रेल मंत्रालय द्वारा अनलॉक निर्देशों का अनुपालन कराते हुए ट्रेन को शुरू किया जाएगा बावजूद ट्रेन नहीं शुरू हने से यात्रियों की आस पर पानी फिर गया है।पावरलूम नगरी भिवंडी से दिवा- कल्याण-वसई- मुंबई को जोड़ने वाली यात्री ट्रेन शुरू नहीं होने से यात्रियों में रेल मंत्रालय के खिलाफ भारी नाराजगी व्याप्त है। 

    रेल मंत्रालय से ट्रेन शुरू करने की मांग

    पावरलूम उद्योग नगरी भिवंडी से कारोबार के लिए नित्य दिवा-वसई, कल्याण, मुंबई तक सफर करने वाले रामानुज सिंह, रामपाल विश्वकर्मा, सफीक अंसारी, नियाज खान, सुमित शाह, प्रेमनाथ पाटिल आदि यात्रियों का कहना है कि वैश्विक महामारी संक्रमण के दौरान स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा बंद की गई दिवा-वसई ट्रेन को अब अनलॉक होने पर पुनः शुरू करना बेहद जरूरी है। दिवा-वसई आवागमन के लिए ट्रेन ही एकमेव सुविधाजनक सहारा है जिससे भिवंडी से दिवा-कल्याण-वसई और मुंबई आसानी से पहुंचा जा सकता है। रेल मंत्रालय सूत्रों की मानें तो मुंबई में कोरोना नियमों का अनुपालन करते हुए लोकल सेवा शुरू की गई है बावजूद यात्री लापरवाही बरत रहे हैं। अनलॉक के दौरान नागरिकों द्वारा गाइडलाइन अनुपालन में भयंकर लापरवाही की जा रही है। सरकार को आशंका है कि नागरिकों की भयंकर लापरवाही को देखते हुए कोरोना महामारी की तीसरी लहर आने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। रेल विभाग कोरोना महामारी के घटते ग्राफ का आकलन कर सुरक्षात्मक दिशा-निर्देशों को बंधनकारी करार देते हुए आगामी समय में दिवा-वसई ट्रेन शुरू किए जाने की संभावना पर बेहद गंभीरता से गौर कर रहा है।