चेरापूंजी है बारिश में घूमने की सबसे खूबसूरत जगह

    -वैष्णवी वंजारी 

    चेरापूंजी बारिश का मजा लेने के लिए एक बहुत अच्छी जगह है। यह एक ऐसा स्थान है जहां पर साल भर बारिश होती है, अगर आप बारिश के मौसम का मजा लेना चाहते हैं तो आपको यहां की यात्रा जरूर करना चाहिए। चेरापूंजी शिलांग से 56 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां बारिश में घूमने का मजा ही कुछ और होता है। वहीं अब बारिश का मौसम भी आ चुका है। ऐसे में यहां हर जगह हल्की सी बूंदाबांदी या बादल छाए हुए रहते हैं, इसलिए यहां घूमने जाने का मन न हो ऐसा हो ही नहीं सकता। 

    देश के कई जगहों पर कोरोना का असर कम देखते हुए संचार बंदी खुल गई है। इसे देखते हुए काफी लोगों का  घूमने जानेमन हो रहा है। भारत में हर साल सबसे अधिक वर्षा वाले स्थान मेघालय की चेरापूंजी यह एक जगह है। यह जगह पृथ्वी पर सबसे नम स्थान की दूसरे नंबर की जगह है। मेघालय राज्य की राजधानी शिलांग से 56 कि.मी की दुरी पर पूर्व खासी पहाड़ियों की गोद में स्थित चेरापूंजी को ‘मेघालय का शिरोमणि’ (मेघालय का गहना ) के रूप में जाना जाता है। चेरापूंजी में मनोरंजन के लिए कई झरने, लिविंग ब्रिज और चूना पत्थर की गुफाओं जैसे मनमोहक स्थान है। 

    जानिए चेरापूंजी का इतिहास 

    चेरापूंजी को मूल रूप से सोहरा के नाम से भी जाना जाता है, चेरापूंजी को ब्रिटिश लोगों के द्वारा ‘चुरा’ के रूप में उच्चारित किया गया था, जो बाद में चेरापूंजी में बदल गया, जिसका अर्थ है ‘संतरों की भूमि’। यात्रा की दृष्टि से यह जगह बिल्कुल अज्ञात है। लेकिन चेरापूंजी यात्रा करने के लिए एक शानदार जगह है।