कर्नाटक का चिकमंगलूर हिल स्टेशन है बेहद खूबसूरत

कर्नाटक स्थित चिकमंगलूर पर्यटकों द्वारा काफी पसंद किया जाने वाला हिल स्टेशन है। पश्चिमी घाटों की मुलयनगिरी चोटी की तलहटी पर स्थित, यह शहर अपने सुखद और अनुकूल हिल स्टेशन जलवायु, उष्णकटिबंधीय वर्षावन और कॉफी सम्पदा के लिए राज्य भर से पर्यटकों को आकर्षित करता है।जिसके हर कोने में इसकी सुंदरता और अनोखे नज़ारे छुपे हुए हैं। यहां आपको प्राकृतिक खूबसूरती और हरे भरे खेत देखने को मिलते हैं। अगर छुट्टियाँ बिताने के बारे में सोच रहे हैं तो, चिकमंगलूर ज़रूर आएं। तो आइए जानें यहां के कुछ पर्यटन स्थलों के बारे में…

कलथीगिरी जलप्रपात-
कलथिगिरि जलप्रपात 122 मीटर की ऊंचाई से वीरभद्र मंदिर पर गिरता है। यह दिखने में बेहद ही खूबसूरत होता है। केम्मान्नागुंडी से भी कलथिगिरी केवल 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह स्थान पर्यटकों द्वारा काफी पसंद किया जाता है। 

श्रृंगेरी मठ-
आठवीं सदी में आदि शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार शारदापीठ में से एक चिकमंगलूर के श्रृंगेरी तालुक में स्थित है। श्रृंगेरी मठतुंगभद्रा नदी के किनारे स्थित है, जो विद्या की देवी को समर्पित है। यहां का शांत वातावरण में लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है। मठ के नजदीक स्थित विद्याशंकर मंदिर, मल्लिकअर्जुन मंदिर और सिरिमाने जलप्रपात इस स्थान को और भी खूबसूरत बनाते हैं। बीसवीं सदी से पहले यह मंदिर लकड़ी से बना एक साधारण शिल्प था जिसमें आग लगने के बाद इसका दक्षिण भारतीय शैली में जीणोद्धार किया था।

हेब्बे जलप्रपात-
कॉफी बगान में छुपे हुए हेब्बे जलप्रपात की सुंदरता पर्यटकों को अपनी ओर काफी आकर्षित करती है। 168 मीटर की ऊंचाई से गिरता यह जलप्रपात दो भागो में विभाजित है जो कन्नड़ भाषा में ‘डोड्डा (बड़ा ) हेब्बे’ और ‘चिक्का (छोटा) हेब्बे’ के नाम से जाने जाते हैं। केम्मन्नागुंडी से हेब्बे तक आप ट्रेकिंग कर पहुंच सकते हैं। यह आपका एक रोमांचक सफर हो सकता है।