किन्नोर कैलाश पर्वत, जहां स्थित है 79 फिट ऊंचा शिवलिंग

हमारा भारत देश बहुत सी अद्भुत चीज़ों को अपने में समेटे है। वहीं भारत के हिमालय की बर्फीली चोटियों में कई ऐसे देव स्थान हैं, जिनकी मान्यताएं बहुत हैं। उनमें से ऐसा ही एक स्थान है किन्नर कैलाश पर्वत, जो किन्नौर जिले में स्थित है। तो आज हम आपको इस लेख के ज़रिए बताएंगे इसी पर्वत और यहां मौजूद 79 फिट के शिवलिंग के बारे में…

क्यों खास है किन्नर कैलाश का शिवलिंग-
इस शिवलिंग की बहुत सी खासियत है, यह बेहद ही खूबसूरत है। साथ ही यह बादलों में घिरा रहता है और आस-पास बर्फीले पहाड़ों की चोटियां हैं। यह शिवलिंग एक पत्थर है जो शिवलिंग और त्रिशूल की आकर में है। यह पहाड़ की चोटी पर बहुत अच्छी तरह से संतुलित है। इस शिवलिंग की सबसे खास बात यह है कि यह तीनो पहर अपना रंग बदलता रहता है। साथ ही यह पार्वती कुंड के नज़दीक स्थित है, इसलिए भी इसकी मान्यता ज़्यादा है।

यहां का ट्रेक है बहुत मुश्किल-
14 किलोमीटर लंबे किन्नर कैलाश पर्वत का ट्रेक काफी मुश्किल माना है। यहां आस-पास बर्फीली चोटियां और सेब के बागान भी हैं। वहीं यहाँ आपको खूबसूरत सांग्ला और हंगरंग वैली के नज़ारे भी देखने मिलेंगे। इस ट्रेक की शुरुआत तांगलिंग गांव से होता है। यहां से 8 किलोमीटर दूर मलिंग खटा तक ट्रेक कर जाना होता है। इसके बाद 5 किलोमीटर दूर पार्वती कुंड तक, वहां के दर्शन करने के बाद 1 किलोमीटर और ट्रेक करने पर आप किन्नर शिवलिंग पहुँच पाएंगे।