जानें तमिलनाडु में बसे यरकॉड हिल स्टेशन के बारे में

तमिनाडु के सेलम जिले में स्थित एक पर्वतीय पर्यटन स्थल है, जिसका नाम यरकॉड है। जिसे वहां के आम नागरिक सेवन फॉरेस्ट भी कहते हैं। यरकॉड का अर्थ झील और जंगल होता है। यह हिल स्टेशन बाकि हिल स्टेशन से काफी सस्ता है, जैसे कि ऊटी और कोडईकनाल। अन्य किसी भी हिल स्टेशन के मुकाबले यहां पर्यटकों की भीड़ भी आपको कम ही मिलेगी। इस वजह से आप यहां की प्राकृतिक सुंदरता और शांति का लुत्फ़ उठा सकते हैं। 

शेवाराय मंदिर और भालू की गुफा-

भारत के दक्षिण में बसे सबसे खूबसूरत राज्यों में शुमार, तमिलनाडु ने हमेशा से ही अपनी एक अलग संस्कृति और अनोखी सभ्यता से पर्यटकों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया है। शेवाराय मंदिर, सर्वरायन पहाड़ी पर समुद्रतल से 5326 फीट ऊपर स्थित है। यह स्थल, यरकॉड की सबसे ऊंची जगहों में से एक है।

यहां स्थानीय देवता सरवरन और उनकी पत्नी कवरिअम्मा का मंदिर है। यहां रहने वाली जनजाति के लोग प्रतिवर्ष मई में वार्षिकोत्सव मनाते हैं। मंदिर के रास्ते में नोर्टन बंगले के पास भालू की गुफा है। ऐसा कहा जाता है कि, बहुत समय पहले यहां एक राजा की गुप्त सुरंग का प्रवेश द्वार हुआ करता था। यह स्थल यरकॉड के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है।

बॉटनिकल गार्डन-

तमिलनाडु के यरकॉड में स्थित बोटैनिकल गार्डन में ऑर्किडेरियम और ग्रीन हाउस हैं, जो वनस्पतियों और जीवों की यात्रा करने के लिए सबसे अच्छे स्थानों में से एक है। यहां आपको विभिन्न प्रजातियों के पौधें देखने को मिलेंगे, साथ ही उनके बारे में आप ज्ञान भी प्राप्त कर सकते हैं। यरकॉड कुरिनजी फूलों के लिए जाना जाता है, जिनमें से बहुत से इस बगीचे में देखे जा सकते हैं।  इस फूल की खासियत यह है कि यह बारह साल में एक बार खिलता है।

राष्ट्रीय ऑर्किडेरियम, बॉटनिकल गार्डन के भीतर स्थित, पन्ना झील से 2 किमी की दूरी पर स्थित है।  इस ऑर्किडेरियम में ऑर्किड की एक विस्तृत वर्गीकरण है, जिसमें विशेष रूप से पाए जाने वाले ऑर्किड की 30 प्रजातियां शामिल हैं।  इसके अलावा, ऑर्किडेरियम में ऑर्किड की कई लुप्तप्राय प्रजातियां भी हैं, जो यहां संरक्षित हैं।  इस तथ्य के कारण, यह स्थान भारत के सभी ऑर्किडेरियम में तीसरे स्थान पर है।  वर्नोनिया शेरावॉयेंसिस और लेडीज स्लिपर आर्किड इस ऑर्किडेरियम में प्रदर्शित ऑर्किड की कुछ अन्य प्रजातियां हैं।