तमिलनाडु का ममल्लापुरम है बेहद सुंदर, जरूर जाएँ इन जगहों पर

अगर आप साउथ इंडिया के हिल स्टेशन्स घूमने, वहां मौज – मस्ती करना चाहते हैं, तो आज हम आपको बताएंगे साउथ इंडिया के ममल्लापुरम या महाबलीपुरम के बारे में, जो तमिलनाडु राज्य का सबसे अधिक आकर्षित करने वाला पर्यटन स्थल माना जाता है। यहाँ एक बार जाने पर बार – बार जाने का मन करेगा। यहाँ के सभी जगहों पर आप अपने दोस्तों तथा परिवार के साथ घूमने जा सकते हैं। तो आइए जानते हैं साउथ इंडिया के खूबसूरत जगहों के बारे में…

शोर मंदिर-
समुद्र के पश्चिमी ओर से प्रवेश द्वार के साथ-साथ बंगाल की खाड़ी पर स्थित भगवान विष्णु और भगवान शिव को समर्पित शोर मंदिर धार्मिक पर्यटकों के लिए एक विशेष स्थान है। शोर मंदिर अपने सुंदर शिल्प कौशल और जटिल नक्काशी के साथ – साथ वास्तुशिल्प डिज़ाइन बहुत आकर्षक एवं विश्व प्रसिद्ध है। यहां आकर आप वास्तु अनुभव का आनंद ले सकते हैं और यहां के इतिहास को जान कर अपने ज्ञान को बढ़ा सकते हैं। 

महाबलीपुरम के समुद्र तट-
महाबलीपुरम के समुद्र तटों पर घूम कर आप मन की शांति का अनुभव करेंगे। इस जगह का एक समृद्ध इतिहास है, महाबलीपुरम समुद्र तट सफेद, साफ और मंत्रमुग्ध कर देने वाले हैं। आप यहां पर अपने दिनों का आनंद ले सकते हैं। दुनिया भर के पर्यटक शांति की तलाश में यहां भ्रमण करने जरूर आया करते हैं। 

अर्जुन की तपस्या-
अर्जुन की तपस्या एक बहुत खूबसूरत पत्थर पर नक्काशी के रूप में जाना जाता है। यह मूर्तियां नौ मीटर ऊंची और सत्ताईस मीटर लंबी हैं। यह एक व्हेल निर्मित चट्टान के पीछे की ओर खुदी हुई है, जो देश के ज्ञान से बाहर की कहानियों को प्रदर्शित करता है। महाबलीपुरम में अर्जुन की तपस्या सबसे आश्चर्यजनक नक्काशीयो के रूप में स्थित है। यहां कि मूर्तियों में जिस प्रकार से नक्काशी कि गई है, इससे साफ पता चलता है कि कारीगरों द्वारा इन्हें कितनी बारीकी तथा मेहनत से बनाया गया होगा। 

टाइगर गुफाओं के नज़ारे-
सालुरुप्पुपम के तटीय गांवों के करीब टाइगर गुफाओं को देखा जा सकता है। टाइगर गुफा में एक चमत्कारी मंदिर भी है जो कि देवी दुर्गा को समर्पित है। इन गुफाओं में की गई नक्काशी किसी चमत्कार से कम नहीं, जो कि उस समय कि गई थी जब विज्ञान इतना विकसित नहीं हुआ था। टाइगर की गुफाएँ घूमने तथा पिकनिक के लिए एक बेहतरीन जगह मानी जाती हैं।