योगी सरकार के कार्यकाल में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए 139 अपराधी

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Aditynath) के कार्यकाल में पिछली 20 जून तक पुलिस के साथ मुठभेड़ में कुल 139 अपराधी मारे गए तथा 3196 घायल हुए। इन कार्रवाइयों में पुलिस के 13 जवानों की भी जान चली गई। गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी (Awanish Kumar Awasthi) ने सोमवार को बताया कि राज्य सरकार द्वारा अपराध को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति रही है और उसके अब तक के कार्यकाल में संगठित अपराध का सफाया कर दिया गया है।

    उन्होंने बताया कि 20 मार्च 2017 से 20 जून 2021 तक की अवधि में कुल 139 अपराधी गिरफ्तारी के दौरान हुई पुलिस मुठभेड़ में मारे गये हैं तथा 3196 घायल हुये हैं। इस दौरान पुलिस बल के 13 जवान वीर गति को प्राप्त हुए तथा 1122 पुलिस कर्मी घायल भी हुए हैं। 

    अपर मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश सरकार के निर्देश पर पुलिस द्वारा प्रदेश में कुख्यात अपराधियों, विभिन्न प्रकार के माफिया गिरोह और उनके सहयोगियों के विरूद्ध अभियान चलाकर कठोर कार्यवाही की गयी है। उन्होंने बताया कि सरकार के चार वर्ष से अधिक के कार्यकाल में गैंगस्टर अधिनियम के तहत कुल 15 अरब 74 करोड़ रूपये से अधिक की अवैध सम्पत्तियों के जब्तीकरण की कार्यवाही की गयी है। सर्वाधिक कार्यवाही जनवरी 2020 से अब तक की गयी है, जिसके तहत 13 अरब 22 करोड़ रूपये से अधिक की अवैध सम्पत्ति जब्त की गयी है।     

    अवस्थी ने बताया कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में गैंगस्टर अधिनियम के तहत 13700 से अधिक मुकदमे दर्ज किये जा चुके हैं, जिनमें 43 हजार से अधिक अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गयी है। उन्होंने बताया कि गैंगस्टर अधिनियम में सर्वाधिक कार्यवाही वाराणसी जोन में की गयी है, जहां कुल 420 प्रकरणों में दो अरब, दो करोड़, 29 लाख रूपये से अधिक, गोरखपुर जोन में 208 प्रकरणों में दो अरब, 64 करोड़, 85 लाख रूपये से अधिक तथा बरेली जोन में एक अरब, 84 करोड़, 82 लाख रूपये से अधिक की सम्पत्ति के जब्तीकरण की कार्यवाही की गयी।(एजेंसी)