एडीजी प्रशांत कुमार बोले- 15 अगस्त के पहले राज्य को दहलाने का था प्लान, विस्फोटक सामग्री बरामद

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लॉ एंड आर्डर एडीजी प्रशांत कुमार (Prashant Kumar) ने लखनऊ से पकडे गए अल-कायदा (al Qaeda) के दो आतंकवादियों को लेकर प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि, “अलकायदा के अंसार गजवत-उल-हिंद से जुड़े दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। हथियारों का कैश, विस्फोटक सामग्री बरामद किया है। 15 अगस्त के पहले राज्य को दहलाने का प्लान बना रहे थे।”

    एडीजी ने बताया कि, अलकायदा समर्थित यह संगठन उमर नमक एक आतंकवादी चला रहे है। जो पाकिस्तान के पेशावर और क्वेटा से इस लगातार संचालित कर रहा है।”

    प्रशांत कुमार ने बताया कि एटीएस ने अलकायदा समर्थित ‘अंसार ग़ज़वतुल हिंद’ के सक्रिय सदस्य लखनऊ के दुबग्गा निवासी मिनहाज अहमद तथा मणियांव के रहनेवाले मसीरुद्दीन को गिरफ्तार किया है। इन दोनों के पास से विस्फोटक सामग्री बरामद हुई है।   

    उन्होंने बताया कि ये लोग अलकायदा के उत्तर प्रदेश मॉड्यूल के मुखिया उमर हलमंडी के निर्देश पर अपने साथियों की मदद से आगामी 15 अगस्त को उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों, खासकर लखनऊ के महत्वपूर्ण स्थानों, स्मारकों और भीड़भाड़ वाले इलाकों में विस्फोट करने और मानव बम आदि द्वारा आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने की तैयारी कर रहे थे। इसके लिए हथियार तथा विस्फोटक भी जमा किया गया था।   

    कुमार ने बताया कि इस गिरोह में लखनऊ तथा कानपुर के इनके अन्य साथी भी शामिल हैं। अन्य टीमों के द्वारा इन आतंकवादियों के अन्य सहयोगियों की तलाश के लिए विभिन्न स्थानों पर दबिश दी जा रही है।  अपर पुलिस महानिदेशक के मुताबिक पूछताछ के दौरान इन लोगों ने अपने सहयोगियों के घर से भाग जाने की बात बताई है। इस सिलसिले में एटीएस की टीम ने स्थानीय पुलिस से सहयोग लेकर सघन जांच शुरू की है। 

    उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में एटीएस थाने में मामला दर्ज कराया जा रहा है तथा इन दोनों व्यक्तियों को अदालत में पेश किया जाएगा और पुलिस रिमांड पर लेकर उनके तथा उनके अन्य साथियों के बारे में जानकारी प्राप्त की जाएगी।