राकेश टिकैत ने दी आत्महत्या की धमकी, गाजीपुर में धारा 144 लागू

नई दिल्ली: भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने सरेंडर करने से इनकार कर दिया है। इसी के साथ उन्होंने धमकी देते हुए कहा कि, “अगर सरकार ने तीनो कृषि कानूनों (Agriculture Bill) को वापिस नहीं लिया तो आत्महत्या (Suicide) कर लूँगा।” इसी के साथ टिकैत ने अनशन करने का ऐलान कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने गाजीपुर में धारा 144 लगा दी है।

ज्ञात हो कि, गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के सभी जगहों से किसान आंदोलन को समाप्त करने करने का आदेश सभी जिले के डीएम और एसपी को दिया है सरकार के आदेश मिलते ही गाजियाबाद प्रशासन ने तत्काल आदेश जारी कर गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन को समाप्त करने का नोटिस राकेश टिकैत के संगठन को दिया 

बात होने तक नहीं जाएंगे 

किसान नेता ने कहा, “हम अपना धरना-प्रदर्शन जारी रखेंगे और सरकार से बातचीत होने तक साइट खाली नहीं करेंगे। प्रशासन ने पानी और बिजली की आपूर्ति सहित बुनियादी सुविधाओं को हटा दिया है। हमें अपने गाँवों से पानी मिलेगा।”

सुप्रीम कोर्ट के जज करें जांच 

किसान नेता ने कहा, “हम आंदोलन समाप्त (Protest End) नहीं करेंगे। दिल्ली के लाल किले पर हुई हिंसा को लेकर हमपर झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं। लालकिले पर जो घटना हुई उसके लिए जिम्मेदार नेताओं पर क्या कार्रवाई की गई, दीप सिद्धू कौन है उसका किसके साथ रिश्ता है। इसके लिए जो जिम्मेदार हैं, उनकी कॉल डिटेल निकाली जाए और सुप्रीम कोर्ट के जज से इसकी जांच कराई जाए।” उन्होंने कहा, “इसकी जांच कमिटी भी करें और झंडा लगाने वालों का पता करें की वह कौन लोग थे।”

उत्तर प्रदेश सरकार कर रही दमन 

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए टिकैत ने कहा, “उत्तर प्रदेश सरकार आंदोलन स्थल पर गिरफ़्तारी का प्रयास कर रही है। सुप्रीम कोर्ट ने शांति ऐसे प्रदर्शन करने को मान्य किया है। गाजीपुर बॉर्डर पर कोई भी हिंसा नहीं हुई है, लेकिन सरकार दमनकारी नीति अपना रही है।

किसानों के खिलाफ साजिस

किसान नेता टिकैत ने आगे कहा, “मुझे कुछ भी हुआ उसका ज़िम्मेदार प्रशासन होगा।” वहीं रोते रोते टिकैत ने आगे कहा, “मैं किसानों को मरने नहीं दूंगा, यहां किसानों के खिलाफ साजिस रची जा रही है, यह अत्याचार है।”

भाई ने को समाप्त करने की घोषणा 

राकेश टिकैत जहां आंदोलन को जारी करने की बात कर रहें हैं, वहीं उनके भाई नरेश टिकैत ने आंदोलन को समाप्त करने की घोषणा कर दी है। आंदोलन समाप्त करने के बाद मिले नोटिस पर बोलते हुए उन्होंने कहा, “हम धरना तो समाप्त कर देंगे। धरना स्थल (गाज़ीपुर बॉर्डर) पर पानी, बिजली अन्य सुविधाएं बंद कर दिए गए हैं। अब हम वहां क्या करेंगे? उठ ही जाएंगे।”