Indian High Commission issues 'open letter' for British MP regarding farmers movement
File

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Aditynath Government) ने किसान आंदोलन (Farmer Protest) को लेकर बड़ा निर्णय लिया है। सरकार ने कृषि कानूनों (Agriculture Bill) को लेकर प्रदर्शन कर रहे सभी किसानों (Farmers) को जल्द से जल्द अपना आंदोलन (Protest) समाप्त करने का आदेश दिया है। गुरुवार को इसके लिए सभी डीएम और एसपी को आदेश भी जारी किया है।

संघु और गाजीपुर में भारी पुलिस बल तैनात 

26 जनवरी के दिन दिल्ली में हुई हिंसा के बाद किसान आंदोलन को लेकर विरोध का सुर उठने लगा है। इसी क्रम में दिल्ली उत्तर प्रदेश के गाजीपुर बॉर्डर पर हलचल शुरू हो गई है। बड़ी संख्या में पुलिस बल को वहां तैनात कर दिया गया है। इसी के साथ वहां पुलिस, रैपिड एक्शन फ़ोर्स ने फ्लैग मार्च भी किया।

गाजीपुर बॉर्डर को खाली करो 

राज्य सरकार के निर्देश के बाद जिलाधिकारियों ने काम शुरू कर दिया है। इसी क्रम में गाजियाबाद डीएम ने आदेश जारी कर प्रदर्शनकारियों को धरना स्थल तुरंत खाली करने को कहा है। इसके लिए प्रशासन ने किसान संगठनों को अल्टीमेटम भी दे दिया है। प्रशासन के आदेश के बाद भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बैठक करने के बाद निर्णय लेने की बात कही है। 

धरना स्थल पर पहुंचे अधिकारी 

आदेश जारी होते ही जिला प्रशासन के अधिकारी धरना स्थल पर पहुंच गए हैं। पुलिस के बड़े अधिकारी भी दल बल से साथ पहुंचे हैं। एक ओर जहां किसान नेता लगातार मंच से भाषण कर रहें हैं, वहीं दूसरी तरफ आंदोलनकारी अपना सामान समेटना शुरू कर दिया है, वहां लगाए टेंट को हटाया जा रहा है।