Siddharth Nath Singh

    लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) के प्रवक्‍ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह (Cabinet Minister Siddharth Nath Singh) ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के बयान को बेतुका बताया। उन्‍होंने कहा कि सपा के पास मुद्दे खत्‍म हो चुके हैं। ऐसे में वह हताशा में उलटे सीधे बयान जारी कर रही है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि कोरोना की शुरूआती दौर से ही भाजपा सरकार के मंत्री और कार्यकर्ता मैदान में उतर कर लोगों की मदद कर रहे हैं। वह सरकार के साथ कंधे से कंधा मिला कर लोगों को राहत पहुंचाने में जुटे हुए हैं। एक तरफ सरकार कम्‍युनिटी किचन के जरिए गरीबों तक भोजन पहुंचाने का काम कर रही है, तो वहीं अटल बिहारी बाजपेई फाउंडेशन की ओर से कम्‍युनिटी किचन की शुरूआत की गई है, लेकिन एसी कमरों में बैठकर ट्वीट करने वाले सपा मुखिया को यह दिखाई नहीं देगा।  उन्‍होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव पिछले चार सालों से धरातल पर उतरे ही नहीं तो उनको कहां ज्ञात होगा कि योगी सरकार और भाजपा के कार्यकर्ता ज़मीन पर किस प्रकार से दिन-रात जुटे हैं। उनको तो अपने गांव और अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों का दुख दर्द जानने की भी फुर्सत नहीं है। घर की चहरदीवारी में आराम से बैठकर रोज के उलूल-जुलूल बेसिरपैर के आरोपों और बयानों से फुर्सत मिले तब तो वो जनता का कुछ भला कर सकेंगे। 

    पूरे प्रदेश में भाजपा हो या आरएसएस के कार्यकर्ता पिछले लॉकडाउन हो या इस बार के आंशिक कोरोना कर्फ्यू पूरी शिद्दत से साथ लोगों की सेवा में लगे हैं। सेवा भारती ने जगह-जगह सेवा कैंप लगाएं है। संघ ने अपने तमाम विद्यालयों को कोविड केयर सेंटर में बदला है। कई जगहों पर संघ पोस्ट कोविड सेंटर भी स्वयंसेवक चिकित्सकों की मद्द से निःशुल्क चला रहा है। स्वयंसेवी संगठनों के सहयोग से कई जगहों पर कम्युनिटी किचन संचालित हो रहे हैं। बीजेपी हो या अन्य वैचारिक संगठन बिना किसी दिखावे के राज्य के लोगों को हर जरूरी सहायता पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं।

    योगी सरकार की बढ़ती लोकप्रियता से हताश है सपा

    सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि सपा योगी सरकार की बढ़ती लोकप्रियता से हताश है। महामारी के दौर में जनसेवा करने के बजाए वह सिर्फ बेतुके बयान जारी कर रही है। अखिलेश यादव अपने एसी कमरे से बाहर आकर देखेंगे तो उनको नजर आएगा कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ किस तरह हर जिले का दौरा करके लोगों को राहत पहुंचाने का काम कर रहे हैं। सीएम योगी एक-एक दिन में कई जिलों में व्‍यवस्‍थाओं का जायजा लेकर उसे दुरूस्‍त करने की हिदायत अधिकारियों को दे रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि अखिलेश को बोलने से पहले कम से कम चीजों के बारे में बेसिक जानकारी करनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि सीएम योगी के लगातार बड़े फैसलों और लोगों के बीच जा कर काम कर रही सरकारी मशीनरी के कारण अखिलेश समेत समूचे विपक्ष के पास मुद्दों का अकाल है। 

    अखिलेश यादव घर में बैठकर ट्विटर की राजनीति कर रहे

    उन्‍होंने कहा कि अखिलेश यादव घर में बैठकर ट्विटर की राजनीति कर रहा है, ज‍बकि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ गांव-गांव जा कर लोगों का हाल ले रहे हैं। अस्‍पतालों, कोविड कमांड सेंटरों का निरीक्षण कर रहे हैं। मुख्‍यमंत्री प्रदेश के सभी मंडल मुख्‍यालयों समेत 50 से ज्‍यादा जिलों का दौरा कर चुके हैं। जहां अन्‍य प्रदेशों में वैक्‍सीनेशन ठप हो जा रहा है, वहीं उत्‍तर प्रदेश में हर रोज वैक्‍सीन लगने का रिकार्ड बन रहा है। 18 से 44 उम्र के लोगों को भी मुफ्त टीका लग रहा है। देश में सबसे ज्‍यादा टीकाकरण यूपी में हो रहा है। 45 साल से ज्‍यादा उम्र के लोगों को टीके की 16543234 डोज दी जा चुकी है, जबकि 18 से 44 साल के लोगों को टीके की 1215017 डोज लग चुकी है।