akhilesh yadav
File Photo

    लखनऊ. समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने स्विस संगठन ( Swiss Organization Report) द्वारा जारी वायु गुणवत्ता रिपोर्ट के आधार पर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार को घेरा है। अखिलेश ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया कि अगर प्रदेश की भाजपा सरकार उनकी पूर्ववर्ती सरकार में शुरू किए गए पर्यावरण संरक्षण में योगदान करने वाले कार्यों को नहीं रोकती तो आज उसे यह दिन नहीं देखना पड़ता।

    पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘दुनिया के 30 सबसे प्रदूषित शहरों में 10 शहर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हैं और राजधानी लखनऊ (Lucknow) दुनिया में नौवें नंबर पर है। अगर सपा सरकार के सार्वजनिक परिवहन मेट्रो, साइकिल ट्रैक, गोमती रिवर फ़्रंट, पार्क और सफ़ारी जैसे पर्यावरणीय काम न रोके होते तो आज भाजपा सरकार को यह दिन नहीं देखना पड़ता।” गौरतलब है कि स्विस संगठन ‘आईक्यू एयर’ की ओर से मंगलवार को जारी ‘विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2020′ के मुताबिक दुनिया के सबसे प्रदूषित 30 शहरों में से 22 भारत में हैं। इनमें लखनऊ नौवें स्थान पर है।

    रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में भारत प्रमुखता से दिख रहा है और विश्व के सबसे प्रदूषित 30 शहरों में से 22 भारत के हैं। रिपोर्ट के अनुसार, चीन का शिनजियांग दुनिया में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर है। उसके बाद शीर्ष 10 में से नौ शहर भारत के हैं। दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में गाजियाबाद दूसरे स्थान पर है। उसके बाद बुलंदशहर, बिसरख जलालपुर, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, कानपुर, लखनऊ और भिवाड़ी का नंबर आता है। इन शहरों में प्रदूषण का स्तर पीएम2.5 के आधार पर मापा गया है। (एजेंसी)