ayodhya

लखनऊ. राम मंदिर निर्माण के साथ ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रदेश में धार्मिक पर्यटन के नए आकर्षण जोड़ने में जुट गयी है. योगी सरकार की योजना अयोध्या और वाराणसी में क्रूज सेवा के साथ कई नयी चीजें शुरु करने की है.

यूपी सरकार अयोध्या , वाराणसी में  करेगी क्रूज सेवा की शुरुआत, पर्यटक घर बैठे देख सकेंगे राम व गंगा आरती

उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या में सरयू और वाराणसी में गंगा नदी में पर्यटकों के लिए क्रूज सेवा की शुरुआत करेगी. पर्यटक क्रूज में ही बैठे बैठे अयोध्य में राम आरती और वाराणसी में गंगा की आरती देख सकेंगे. इसके साथ ही इन दोनो धार्मिक पर्यटन स्थलों पर विशेष तौर से प्रशिक्षित गाइड भी तैनात किए जाएंगे.

राममंदिर के निर्माण के साथ ही अयोध्या में तेजी से शुरू हुआ है विकास

गौरतलब है कि राम मंदिर के निर्माण की शुरुआत के साथ अयोध्या में तेजी से पर्यटन सुविधाओं का विकास किया जा रहा है. इसके तहत अंतरर्राषट्रीय हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन के साथ ही अंतरर्राज्यीय बस स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है. अयोध्या में पर्यटकों के लिए अब तक आधा दर्जन से ज्यादा बड़े समूहों ने होटल निर्माण के लिए रुचि दिखाई है. प्रदेश सरकार का पर्यटन विभाग अयोध्या में उच्च स्तरीय गेस्ट हाउस का निर्माण करा रहा है. अयोध्या में राम की जलसमाधि स्थल गुप्तार घाट से लेकर राम जन्मभूमि तक इच्छवाकुपुरी के नाम से आध्यत्मिक नगरी बसाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है.

पर्यटकों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए अगले महीने शुरू होगा गाइडों के प्रशिक्षण का कार्यक्रम

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की शुरुआत के साथ ही पर्यटकों की बढ़ती भीड़ के लिए आकर्षण पैदा करने के लिए कई सुविधाएं जोड़ी जा रही हैं. इसके तहत यहां डिजिटल माध्यम से रामकथा दिखाने की व्यवस्था की जा रही है. प्रदेश सरकार का पर्यटन प्रबंध संस्थान अयोध्या दर्शन कराने और यहां के स्थलों की जानकारी देने के लिए 100 गाइडों को प्रशिक्षित करेगा. अगले महीने से गाइडों के प्रशिक्षण का कार्यक्रम शुरु हो जाएगा. अभी तक अयोध्या में इसकी सुविधा नही थी.

अयोध्या में क्रूज बोट को रामचरितमानस के आधार पर किया जाएगा डिजाइन

प्रदेश के पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी के मुताबिक अयोध्या में क्रूज बोट को रामचरित मानस के आधार पर डिजायन किया जाएगा और इसमें एनिमेशन के जरिए रामकथा दिखाई जाएगी. सिंचाई विभाग को अयोध्या में सरयू नदी को क्रूज सेवा संचालित करने के लिए तैयार करने को कहा गया है. क्रूज पर सरयू का भ्रमण करने वाले पर्यटक रामकथा के साथ ही आरती भी देख सकेगा. क्रूज का किराया हालांकि अभी तय नहीं किया गया है पर उसी कीमत में पर्यटकों को शाकाहारी भोजन का प्रसाद भी दिया जाएगा. अयोध्या में सरयू किनारे नयाघाट पर पर्यटकों के लिए सेल्फी प्वाइंट भी बनाया जाएगा.

पर्यटन विभाग ने गंगा नदी में वाराणसी से चुनार तक क्रूज की सेवा शुरु, इस सेवा के जरिए पर्यटक दशाश्वमेध से लेकर अस्सी, सरयू, तुलसी घाट होते हुए चुनार के किले तक जाएंगे .प्रदेश सरकार की योजना वाराणसी में भी क्रूज सेवा शुरु करने की है. पर्यटन विभाग ने गंगा नदी में वाराणसी से चुनार तक यह सेवा शुरु करने की योजना बनाई है. इस क्रूज सेवा के जरिए पर्यटक दशाश्वमेध से लेकर अस्सी, सरयू, तुलसी घाट होते हुए चुनार के किले तक जाएंगे. चुनार किले को पर्यटकों के लिए कैंपिंग साइट के तौर पर विकसित किया जाएगा. इसके लिए किले में स्विस काटेज तैयार की जाएगी.

राजेश मिश्र