Ayodhya will glow green gas, CNG station will be built, gas from pipes to houses

-राजेश मिश्र

लखनऊ : पर्यटन और विकास के केंद्र में आ चुकी अयोध्या में अब प्रदूषण में कमी लाने के लिए सीएनजी वाहन दौड़ेंगे और घरों में फिप के जरिए गैस पहुंचेगी.

यूपी में ग्रीन गैस लिमिटेड ने लखनऊ, आगरा के बाद अब अयोध्या में अपना विस्तार किया शुरू:

गैस अथारिटी आफ इंडिया लिमिटेड के संयुक्त उपक्रम ग्रीन गैस लिमिटेड ने अयोध्या (जीजीएल) ने अयोध्या में अपनी गतिविधियों का विस्तार शुरु किया है. ग्रीन गैस ने लखनऊ और आगरा के बाद अब अयोध्या में विस्तार की योजना पर काम शुरु किया है. जल्दी ही अयोध्या में प्रदूषण मुक्त यातायात के लिए सीएनजी स्टेशन बनेंगे और घरों व औद्योगिक ईकाईयों में पाइप के जरिए गैस पहुंचाई जाएगी. कंपनी लखनऊ, आगरा, अयोध्या-सुल्तानपुर के साथ ही उन्नाव में पाइप के जरिए गैस पहुंचाने का काम कर रही है.

ग्रीन गैस के यूपी में अब तक 61 सीएनजी स्टेशन, 1.04 लाख घरों तक पाइप के जरिये गैस पहुंचा रही कम्पनी:

ग्रीन गैस के अभी तक उत्तर प्रदेश में 61 सीएनजी स्टेशन है जबकि यह 1.04 लाख घरों तक पाइप के जरिए गैस पहुंचा रही है. कम्पनी के निदेशक वित्त ने बताया कि उत्तर प्रदेश में ग्रीन गैस ने चालू वित्त वर्ष के लिए तय लक्ष्य का 75 फीसदी काम पूरा कर लिया है. जबकि इसी साल दिसंबर तक सौ फीसदी काम कर लिया जाएगा.

ग्रीन गैस लिमिटेड का अगले 5 सालों में उत्तर प्रदेश में नेटवर्क  विस्तार पर 1600 करोड़ रुपये के निवेश की योजना:

ग्रीन गैस लिमिटेड (जीजीएल) उत्तर प्रदेश में अगले पांच सालों में अपने नेटवर्क के विस्तार पर 1600 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. ग्रीन गैस के निदेशक वित्त, एके तिवारी ने बताया कि कंपनी की विस्तार योजना में अयोध्या प्रमुख है. जल्दी ही अयोध्या में न केवल सीएनजी स्टेशन खुलेंगे बल्कि घरों व औद्योगिक प्रतिष्ठानों को पाइप के जरिए गैर पहुंचाई जाएगी. 

अयोध्या में ग्रीन गैस बड़े पैमाने पर पैदा करेगी रोजगार, पर्यावरण को भी साफ करने का काम करेगी:

उन्होंने कहा कि अयोध्या को प्रदेश सरकार बड़े पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित कर रही है जिसके चलते यह शहर  ग्रीन गैस की गतिविधियों का केंद्र भी बनेगी. अयोध्या को स्मार्ट सिटी के तौर पर भी विकसित किया जा रहा है. ग्रीन गैस न केवल अयोध्या में बड़े पैमाने पर रोजगार पैदा करेगी बल्कि पर्यावरण को भी साफ करने का काम करेगी.

उत्तर प्रदेश के 80 फीसदी जिले सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क में हैं शामिल, जिनमें से चार बड़े शहरों में जीजीएल कर रही काम:

ग्रीन गैस के निदेशक ने बताया कि कोरोना के चलते लगे प्रतिबंधों के बावजूद उत्तर प्रदेश में नेटवर्क के विस्तार पर तेजी से काम चल रहा है. उत्तर प्रदेश के 80 फीसदी जिलों को सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन (सीजीडी) नेटवर्क में शामिल किया गया है जिनमें से चार बड़े शहरों में जीजीएल काम कर रही है.

ग्रीन गैस के प्रबंध निदेशक संजीव मेधी ने बताया कि भारत सरकार ने देश में कुछ ऊर्जा खपत में प्राकृतिक गैस की हिस्सेदारी को 6.5 फीसदी से बढ़ाकर 2030 तक 15 फीसदी ले जाने का लक्ष्य रखा है. अभी तक देश में इस क्षेत्र में गेल व इसके संयुक्त उपक्रमों की 60 फीसदी हिस्सेदारी है. आने वाले दिनों में देश भर में इस सेक्टर में 90000 करोड़ रुपये का निवेश होगा.