mukhtar-ansari

    आजमगढ़. समय अच्छे-अच्छे बहादुर, सूरमाओं और कुख्यात लोगों को भी भीगी बिल्ली बना देती है। ऐसा ही कुछ हुआ जब, कभी पूर्वांचल में अपने नाम का खौफ रखने वाला कुख्यात माफिया डान मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari)आज कोर्ट में जज के सामने गिडगिड़ाता नजर आया।  इतना ही नहीं उसने खुद को उसने खुद को निर्दोष बतातें हुए योगी सरकार (Yogi Goverment) पर बदले की की भावना से कार्रवाई करने का भी आरोप लगाया।  

    गिडगिड़ाता नजर आया मुख्तार अंसारी:

    आज करीब 20 मिनट तक चली इस वीडियों काफ्रेंसिंग में सुनवाई के बाद कोर्ट ने इसे अगली सुनवाई की तिथि दी है।  वहीं कोर्ट ने विवेचक पक्ष को सुना जिन्होंने मुख्तार से पूछताछ की अपनी मांग रखी।  सूत्रों की मानें तो माआजमगढ़ पुलिस जल्द ही माफिया मुख्तार अंसारी से पूछताछ के लिए उसे बांदा जेल जा सकती है। 

    गौरतलब है कि तरवां थाना क्षेत्र के ऐराखुर्द गांव में साल 2014 में सड़क निर्माण के दौरान वर्चस्व की लड़ाई के चलते बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के लोगों द्वारा अंधाधुंध फायरिंग की गयी थी।  इसमें एक मजदूर की मौके पर ही मौत हो गयी थी, जबकि एक अन्य मजदूर घायल हो गया था।  इस मामले में तरवां थाने में मुख्तार और उसके साथियों के खिलाफ FIR और मुकदमा दर्ज कराया गया था।  इसी मामले को लेकर फिर मुख्तार और उसके 10 सहयोगियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कड़ी कार्रवाई हुई थी।  पुलिस ने मुख्तार को इस मामले वारंट भी  तामिल कराया था। 

    कोरोना के कारण वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई पेशी:

    उक्त मामले में गैंगेस्टर कोर्ट ने आज यानी गुरूवार को मुख्तार को पेश होने का निर्देश दिया था।  लेकिन कोरोना के चलते मुख्तार कोर्ट में पेश नहीं किया जा सका, लेकिन वीडियो कांफ्रेसिंग से कार्ट में आज जरुर सुनवाई हुई।  करीब बीस मिनट हुई इस  सुनवाई दौरान माफिया मुख्तार अंसारी कोर्ट में गिड़गिड़ाता हुआ भी नजर आया।  उसका कहना था कि योगी सरकार बदले की भावना से यह काम कर रही है। 

    जेल में नेरे साथ हो रही क्रूरता : मुख्तार

    इधर इस मुद्दे पर मुख्तार के अधिवक्ता दारोगा सिंह ने यह भी बताया कि कोर्ट में सुनवाई के दौरान मुख्तार ने कहा कि उसे अपने घर पर बात भी करने दिया नहीं  जा रहा है।  वहीं जेल मैन्युअल के हिसाब से दी गयी सुविधाएं भी उसे नहीं मिल रही हैं बल्कि  उसके साथ अमानवीय क्रूरता का व्यवहार हो रहा है।