मुख्यमंत्री योगी का वार – किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर भारत की एकता और अखंडता को दी जारही चुनौती

मेरठ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditynath) ने किसान आंदोलन (Farmer Protest) को लेकर एक बार फिर हमला बोला है. उन्होंने कहा, “किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर भारत (India) की एकता और अखंडता को चुनौती दी जा रही है। किसान भाईयों के कंधों पर बंदूक रखकर देश की सुरक्षा में सेंध लगाने का कार्य किया जा रहा है। ये स्वीकार्य नहीं हो सकता है।” रविवार को मेरठ में आयोजित किसान सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही। 

मुख्यमंत्री योगी आज मेरठ के दौरे पर पहुंचे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने मेरठ में सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी के उद्घाटन व विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण किया। वह करीब तीन घंटे से ज्यादा समय तक जनपद में रहे।   इस दौरान योगी ने कहा, “हमारी सरकार ने यहां गंग नहर के किनारे कांवड़ का एक अतिरिक्त लेन बनाने का निर्णय किया है और इसके लिए 600 करोड़ रुपये से अधिक की सहमति दी है।”

दिल्ली और मेरठ को आरआरटीएस से जोड़ रहे 

मुख्यमंत्री ने कहा, “भारत सरकार के सहयोग से हम 32,000 करोड़ की लागत से मेट्रो का एक नया विकल्प RRTS के नाम से मेरठ को दिल्ली के साथ जोड़ रहे हैं। ये इतनी बड़ी दूरी से जोड़ने का देश का पहला ऐसा कार्य है।”