corona
Representative Image

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में लगातार कोरोना (Coronavirus) का कहर जारी है। शनिवार को यूपी में कोरोना संक्रमण से 298 मरीज़ों की मौत हो गई जबकि राज्य में कोरोना संक्रमण के 26,847 नए मामले सामने आए हैं। यूपी में रोज़ाना कोरोना का खतरनाक रूप देखने को मिल रहा है। आंकड़ों के अनुसार, इस वायरस की चपेट में आने से शुक्रवार को 372 मरीजों की मौत हो गई थी और जबकि प्रदेश में संक्रमण के 28,076 नए मामले सामने आए थे। शनिवार के बुलेटिन के अनुसार, प्रदेश में कुल 34,721 मरीज़ कोरोना मुक्त हुए।

    इस बीच, शनिवार को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से बुरी खबर आई। जिले में प्राथमिक विद्यालयों के 23 शिक्षकों (Primary School Teachers) की कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) से मौत हुई है। शनिवार को आधिकारिक रूप से यह जानकारी दी गई।

    एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिला सहायक निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) बेचू राम (Bechu Ram) ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ड्यूटी के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों शिक्षकों के संबंध में सूचना मांगी गई थी। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सूचना दी है कि जिले में प्राथमिक शिक्षा से जुड़े विद्यालयों के 23 शिक्षकों की कोविड-19 से मौत हुई है।

    हालांकि बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देजनर उत्तर प्रदेश में प्रशासन ने कई जगह कड़ी पाबंदियां लगाई हुई हैं। यूपी के नोएडा में थाना फेस -3 की पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 24 लोगों को शुक्रवार रात गिरफ्तार कर लिया। इन सभी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि जिला प्रशासन ने जरूरी सामान खरीदने के लिए सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक का समय तय किया है। निर्धारित समय के बाद बिना अनुमति के बाहर निकलने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है।