File Photo
File Photo

    बरेली. शराब की लत छुड़ाने के लिए जिले के गंगाशील अस्पताल (Gangasheel Hospital) में भर्ती व्यक्ति ने शुक्रवार को अपने नौ साल के बेटे को नीचें फेंकने बाद खुद भी अस्पताल की चौथी मंजिल से छलांग लगा दी, जिससे इस घटना में दोनों पिता-पुत्र की मौके पर ही मौत हो गई।

    बरेली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह साजवाण ने बताया कि दीनदयाल पुरम स्‍थ‍ित गंगाशील अस्‍पताल की चौथी मंज‍िल से मासूम बेटे को नीचे फेंककर नशे की लत के शिकार दीपक कश्‍यप ने छलांग लगा ली। उन्होंने बताया कि इस घटना में प‍िता और बच्‍चे दोनों की मौत हो गई।

    अधिकारी ने बताया कि प्रेमनगर थाना क्षेत्र के मोहल्‍ला गुलानगर न‍िवासी दीपक कश्‍यप (35) पहले संजयनगर में कन्‍फेक्‍शनरी का व्यापारी था, बाद में उसने दुकान बंद कर दी थी और इस वक्‍त वह खाली था। उन्होंने बताया कि दीपक शराब का आदी था, इस वजह से चार द‍िन पहले पर‍िवारवालों ने नशे की लत छुड़ाने के ल‍िए उसको इलाज के ल‍िए गंगाशील अस्‍पताल में भर्ती कराया था, जहां उसका उपचार चल रहा था।

    पुलिस अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार दोपहर दीपक का नौ वर्षीय बेटा दिव्यांश अपनी बुआ के साथ पिता को देखने पहुंचा था। उन्होंने बताया कि उसने बात चीत करने के दौरान अचानक अपने बेटे दिव्यांश को चौथी मंजिल से नीचे फेंक दिया, और खुद भी छलांग लगा दी। उन्होंने बताया कि इस घटना में दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

    दीपक की बहन ने बताया कि शादी के बाद से ही पति और पत्नी के बीच में शराब पीने को लेकर विवाद रहता था, कई बार घर वालों ने विवाद को निपटा दिया था, लेकिन दीपक शराब पीने की हरकत से बाज नहीं आया था, जिसके बाद उसकी पत्नी उसे छोड़कर अपने मायके में रहने चली गई थी। दीपक की बहन ने बताया कि पत्नी ने शराब छोड़ने के बाद ही घर वापस आने की शर्त रखी थी और इसी वजह से दीपक को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस ने दोनो शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेजकर मामले की जांच आरंभ कर दी हैं। (एजेंसी)