पूर्व केंद्रीय मंत्री रामलाल राही का निधन- योगी, प्रियंका गांधी ने जताया शोक

सीतापुर/लखनऊ: कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रामलाल राही (Ramlal Rahi) का बृहस्पतिवार को निधन हो गया। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditynath) और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने राही के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

सीतापुर जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ए के अग्रवाल ने बताया, ‘‘राही को सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ होने पर बृहस्पतिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उपचार के दौरान उनकी कोविड-19 की जांच कराई गई। संक्रमण की पुष्टि होने पर उन्हें एल 2 अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां शाम करीब साढे चार बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।”

राही मिश्रिख सीट से चार बार सांसद और हरगांव सीट से दो बार विधायक रहे। वर्ष 1991 से 1996 तक वह नरसिंह राव के नेतृत्व वाली सरकार में गृह राज्य मंत्री भी रहे। वर्ष 2017 में राही भाजपा में शामिल हो गए थे और 2019 में कांग्रेस में उनकी फिर से वापसी हुई थी।

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने राही के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘राही एक वरिष्ठ और अनुभवी नेता थे। उन्होंने सांसद और विधायक के रूप में लंबे समय तक अपनी सेवाएं दीं।” मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राही के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘राही ने केंद्र सरकार में मंत्री, उत्तर प्रदेश में जनप्रतिनिधि और कांग्रेस के मजबूत संगठनकर्ता के रूप में पूरी निष्ठा से अपनी सेवाएं दी।” उन्होंने कहा, ‘‘अवध क्षेत्र के लोगों के बीच एक कुशल नेता के रूप में प्रसिद्ध रामलाल राही के सरल व्यक्तित्व का हर कोई मुरीद था। उनके निधन से कांग्रेस और उत्तर प्रदेश की राजनीति को अपूरणीय क्षति हुई है।”

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ‘लल्लू’ ने भी राही के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा, ‘‘पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने हमेशा गरीबों, दलितों और शोषितों के अधिकारों के लिए संघर्ष किया। उन्होंने पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ कांग्रेस संगठन की जो सेवा की, उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता।”(एजेंसी)