Gangster Vikas Dubey's special henchman died of bullet injury

कानपुर.  उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी और कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के करीबी सहयोगी प्रभात मिश्रा की पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश करते समय गोली लगने से मौत हो गई। एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी ।

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि प्रभात ने ट्रांजिट रिमांड पर फरीदाबाद से कानपुर लाये जाने के दौरान पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश की । उन्होंने बताया कि प्रभात मिश्रा ने पुलिसकर्मी की पिस्तौल छीन कर एसटीएफ कर्मियों पर गोली चला दी, जिसमें दो कर्मी घायल हो गए। कुमार ने बताया कि पुलिस की जवाबी कार्रवाई में प्रभात घायल हो गया था और उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया।