hathras

हाथरस. एक तरफ उत्तरप्रदेश (UttarPradesh) में हाथरस कांड (Hathras Case) पर SIT बड़े पैमाने पर जांच कर रही है। इसी बीच बीते शनिवार को इस कांड में नक्सल कनेक्शन की बात आने पर हंगामा मच गया है। जांच में पता चला है कि यह महिला पीड़िता के गांव में और उसके घर में भाभी बनकर रह रही थी।

दरअसल SIT की एक टीम मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली महिला की तलाश में जुटी हुई है। कहा जा रहा है कि संदिग्ध नक्सली महिला, पीड़िता के घर में भाभी बनकर रह रही थी। यही नहीं SIT की जांच यह भी कहती है कि यह महिला 16 सितंबर से लेकर 22 सितंबर तक पीड़िता के घर में रहकर कोई बड़ी साजिश के फिराक में थी। वहीँ इसके पहले बीते शुक्रवार को पुलिस ने बताया था कि इस केस से जुड़े फंडिंग मामले में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और भीम आर्मी के लिंक भी मिले हैं जो कि किसी बड़ी साज़िश की तरफ इशारा करता है।

दूसरी तरफ पुलिस का यह भी दावा है कि यह तथाकथित रिश्तेदार जो खुद को  डॉ. राजकुमारी पीड़ित बताती है, परिवारों को बरगलाते हुए देखी गई है। केवल दलित होने के नाते परिवार के लोगों को अपने भरोसे में लेकर यह पिछले कई दिनों से पीड़ित परिवार के यहां रह रही थी। यही नहीं यह महिला खुद को जबलपुर मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर बता रही थी। पुलिस का यह भी कहना है कि यह महिला, पीड़ित परिवार को  मीडिया में क्या और कैसे बयान देना है, इसको लेकर लगातार गाइड कर रही थी। वहीं अब पुलिस के शक होते ही महिला घर से चुपचाप कहीं चली गयी है । 

क्या ख़ास मिला है डॉ. राजकुमारी के बारे में :

  • SIT को डॉ. राजकुमारी के नक्सल होने पर शक. 
  • SIT की एक टीम जबलपुर  में कर रही है तफ्तीश. 
  • डॉ. राजकुमारी 16 सितंबर से लेकर 22 सितंबर तक पीड़िता के घर में रही.
  • कोई बड़ी साजिश के फिराक में थी डॉ. राजकुमारी.
  • खुद को जबलपुर मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर बता रही थी.
  • पीड़ित परिवार को मीडिया में बयानबाजी को लेकर कर रही थी गाइड. 
  • केस से जुड़े फंडिंग मामले में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और भीम आर्मी के लिंक भी मिले.
  • फिलहाल हाथरस से गायब,पुलिस रही तलाश.

hathras

SIT की पूछताछ जारी

इधर मामले की जांच कर रही SIT की टीम ने आरोपियों के परिवार से पूछताछ के लिए उन्हें बीते शुक्रवार को बुलाया था। इनमे से दो आरोपियों के परिवारों और रिश्तेदारों से सघन पूछताछ की गयी थी। इसके साथ ही बताया जा रहा है कि SIT  पीड़ित परिवार के पड़ोसियों को भी पूछताछ के लिए बुलावा भेजा है। बता दें कि SIT करीब 40 लोगों से पूछताछ करने वाली है।