hathras

हाथरस. उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस कांड (Hathras Case) में नयी-नयी जानकारी सामने आ रही है। आज सुबह तक जिस महिला को लेकर नक्सल कनेक्शन (Naxal Connection) की बात की गयी थी। वही प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल मीडिया के सामने आकर पूछा है कि, उन्हें नक्सल कैसे बताया गया। उनका यह भी कहना था कि वे केवल आत्मीयता के चलते हाथरस गैंगरेप पीड़िता के घर गयी थी।

दरअसल हाथरस में हुए कथित गैंगरेप (Hathras Case) मामले में नक्सल कनेक्शन (Naxal Connection) के मुद्दे पर प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल का नाम आय था। वहीं बताया गया कि SIT की एक टीम मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली महिला की तलाश में जुटी है। अब इस मुद्दे पर कहा गया की प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल ही वह महिला है।

 डॉक्टर राजकुमारी बंसल आयी सामने 

इसपर अभी कुछ देर पहले मीडिया से मुखातिब होते हुए प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल ने पूछा कि कैसे और क्यों उन्हें नक्सल बताया गया। पीडिता के परिवार से सम्बन्ध होने के प्रश्न पर उन्होंने जवाब दिया कि, जब वे पीडिता के परिवार से मिलने गयी तो “उन लोगों को यह अच्छा लगा कि हमारे समाज की एक लड़की इतने दूर से आई है तो उन्होंने कहा कि, बेटा एक दो दिन रूक जाओ, तो मैं रूक गई।” उनका यह भी कहना था कि वे पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद करना चाहती थी और सिर्फ पति अपने को बताकर गई थी।यही नहीं अब उन्होंने SIT को सीधे तौर पर चैलेंज देते हुए कहा कि, “वे लोग हले सबूत पेश करें क्योंकि बोलना और आरोप लगाना बहुत आसान होता है।”

पेशे से मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर हैं राजकुमारी बंसल 

प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल जो पेशे से मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर हैं,ने यह भी बताया कि उन्हें लगा कि उनके नंबर के साथ टेंपरिंग की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि, “इसकी रिपोर्ट फौरन साइबर पुलिस में भी की है। ये मेरे मान सम्मान की बात है। कैसे मुझे नक्सल कहा गया।” उनका कहना था कि, “मैं फॉरेंसिक रिपोर्ट देखने गई थी, क्योंकि मैं एक्सपर्ट हूं उस विषय की।” यही नहीं उनका कहना था कि,”मैने भाभी बनकर कभी इन्टर्व्यू नहीं दिया, मैने कहा कि मैं बेटी हूँ।”

गौरतलब है कि SIT कि जांच में यह बात सामने आई थी कि 16 सितंबर से लेकर 22 सितंबर तक पीड़िता के घर में एक नाक्साली महिला भी थी। यही नहीं उक्त नाक्साली महिला घूंघट ओढ़कर पुलिस और SIT से बातचीत कर रही थी। इसके साथ ही वह कोई बड़ी साज़िश करने के फिराक में थी और पीड़िता के ही घर में रहकर वह परिवार के लोगों को कथित रूप से भड़का भी रही थी। इधर SIT का यह भी कहना था कि उक्त महिला के कॉल डिटेल्स में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। 

फिलहाल मामला और पेचीदा हो गया है और SIT अब दो तरफा दबाव में चल रही है। अब देखना यह है कि इस मामले में और क्या क्या बातें सामने आती हैं।