rap
Representative Picture

    संभल (उत्तर प्रदेश). उत्तर प्रदेश (UTTAR Pradesh) में संभल जिले के चंदौसी में नर्सिंग होम के बाहर एक महिला का प्रसव हो जाने की घटना का वीडियो बनाने वाले एक पत्रकार की गर्भवती पत्नी को अस्पताल के कर्मियों ने कथित रूप से जबरन बाहर निकाल दिया। इस मामले में दो डॉक्टरों समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

    पुलिस सूत्रों ने रविवार को बताया कि एक समाचार चैनल के पत्रकार रवि ने कोतवाली में तहरीर देकर आरोप लगाया कि उन्होंने अपनी पत्नी को प्रसव के लिए डॉ मोनिका और डॉ शरद रवि के नर्सिंग होम में गत 30 अप्रैल को भर्ती कराया था तथा उसी रात 11 बजे जब वह नर्सिंग होम में थे तभी एक गर्भवती महिला का नर्सिंग होम के बाहर प्रसव हो गया।

    उन्होंने आरोप लगाया कि यह घटना अस्पताल प्रशासन की लापरवाही की वजह से हुई जब वह इसका वीडियो बनाने लगे तब नर्सिंग होम के चिकित्सकों और कर्मियों ने उनके साथ बदसलूकी और मारपीट की और उनकी गर्भवती पत्नी को नर्सिंग होम से बाहर निकाल दिया।  चंदौसी के थाना प्रभारी देवेंद्र शर्मा ने बताया कि इस मामले में पत्रकार की तहरीर के आधार पर शनिवार देर रात डॉ शरद, डॉ मोनिका तथा छह अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है।