वाराणसी के 693 गाँव में बनेगा स्मृति वन, अपनो की याद में अपनी मिट्टी में लोग लगाएंगे पौधे

    वाराणसी. आप जिसे बहुत प्यार करते थे, जिसे आप बहुत चाहते थे, उनके इस दुनिया से जाने के बाद बस उनकी यादें रह जाती है। इन यादो (Memories) को संजोने के लिए योगी सरकार (Yogi Government) आपके अपने गाँव (Village) में स्मृति वन (Smriti Van) बनाने की योजना बनाई है। स्मृति वन को गाँव के लोग खुद बना सकते है। मौत स्वाभाविक हो या कोरोना (Corona) के कारण ,सरकार इसके लिए ज़मीन उपलब्ध करा रही है । कोविड जैसी महामारी में शुद्ध ऑक्सीजन वातावरण में  बना रहे इसके लिए भी स्मृति वन कारगर साबित होगा।

    अपने प्रिय लोगों की यादों को हर कोई संजोना चाहता है। अपनों की याद में कोई  इमारते बनवाता तो कोई उनकी मूर्ति लगवाता है। उत्तर प्रदेश की संवेदनशील योगी सरकार अब आम लोगों  की भावना को कद्र करते हुए उन्हें अपने मिट्टी में अपने लोगो के स्मृति वन बनाने  के लिए ज़मीन उपलब्ध कराएगी। सरकार गाँव में सरकारी  भूमि पर स्मृति वन बनाने के लिए योजना लाई  है। डिस्ट्रिक्ट फारेस्ट ऑफ़िसर महावीर कौजालगी ने बताया कि कोविड के दौरान शुद्ध  ऑक्सीजन की  कमी देखी गई थी। इस लिए जिन लोगों की मौते हुई है उनके परिजन उनकी  याद में स्मृति वन  में पौधे लगा सकते है। जिससे पर्यावरण में शुद्ध ऑक्सीजन बना रहे। सरकार  इसके लिए गाँव में ज़मीन उपलब्ध कराएगी। और पौधे निःशुल्क देगी। मुख्यतः फ़लदार और ऑक्सीजन देने वाले पौधों को लगाए जाने पर बल दिया  जा रहा है।

    वन विभाग वाराणसी जिले के  693 ग्राम पंचायतों में स्मृति वन बनाएगी । वहां गाँव के लोग अपनों की याद में पौधा लगा सकेंगे। इन पौधों से आप अपने प्रिय जनों  को याद रख पाएंगे। और उनके नाम पर लगाए गए पौधे से पर्यावरण संरक्षण में भी मदद मिलेगी। आप अपनों के यादों  के माध्यम के साथ सामाजिक दायित्वों का निर्वहन भी कर सकेंगे।