Yogi instructed to examine samples of people with suspected symptoms of infection

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में बन रहे ‘मुगल म्यूजियम’ (मुगल संग्रहालय) का नाम बदल कर छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर रखने का ऐलान किया है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी ने अपने सरकारी आवास पर वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आगरा मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने मुगल म्यूजियम का नाम छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर रखने का आदेश दिया है। यह म्यूजियम ताजमहल के पूर्वी गेट पर बन रहा है।

मुगल म्यूजियम में मुगलों के दौर में हासिल की गई राजनीतिक और सांस्कृतिक उपलब्धियों को कलाकृतियों के माध्यम से प्रदर्शित किया जाएगा। लगभग 52 वर्ग मीटर क्षेत्र में बन रहे इस म्यूजियम के निर्माण पर करीब 20 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस म्यूजियम का काम वर्ष 2017 में शुरू हुआ था। वहीं इसका निर्माण 2019 तक पूरा हो जाना था।

योगी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार राष्ट्रवादी विचारों को पोषित करने वाली है। उन्होंने ने कहा कि गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों को छोड़, राष्ट्र के प्रति गौरवबोध कराने वाले विषयों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। हमारे नायक मुगल नहीं हो सकते। छत्रपति शिवाजी महाराज हमारे नायक हैं।

समीक्षा बैठक में योगी ने आगरा मंडल में खारे पानी की समस्या का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पेयजल की योजनाओं पर खास ध्यान दिया जाए। लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए अटल भूजल योजना के तहत कार्य कराया जाए। जल-जीवन मिशन की योजनाएं आगे बढ़ाई जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगरा स्मार्ट सिटी और अमृत योजना के कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण किया जाए।