बदलते दौर में एक बार फिर ‘गांव की बेटी सबकी बेटी’ के भाव को जगाने की जरूरत

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पंचायतों, नगर निकायों की महिला जनप्रतिनिधियों, शिक्षा विभाग की अध्यापिकाओं से ‘मिशन शक्ति’ के अन्तर्गत महिलाओं/बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलम्बन के लिए संचालित किए जा रहे जागरुकता अभियान में सहयोग करने का आह्वान किया है. उन्होंने कहा कि बदलते दौर में एक बार फिर ‘गांव की बेटी सबकी बेटी’ के भाव को जगाने की जरूरत है. यह हमारी संस्कृति और संस्कार हैं. गांव से लेकर महानगरों तक इसकी गूंज होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा है महिला सुरक्षा और सम्मान को सुनिश्चित करने के साथ-साथ स्वावलंबन के लिए केंद्र और राज्य सरकार सतत प्रयास कर रही है, इसमें पूर्ण सफलता महिलाओं के सहयोग और जागरूकता से ही मिल सकेगी. 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर ‘मिशन शक्ति’ अभियान के अन्तर्गत पंचायतों और नगर निकायों की महिला जनप्रतिनिधियों और शिक्षिकाओं से वर्चुअल संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे. इस वर्चुअल संवाद से 1 लाख से अधिक महिला जनप्रतिनिधि, शिक्षिकाएं आदि जुड़ी थीं. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जनपद बस्ती, बलिया, बाराबंकी, बिजनौर की महिला जनप्रतिनिधियों से संवाद स्थापित किया. 

कार्ययोजना बनाकर संचालित किया जा रहा

‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलम्बन के दृष्टिगत अनेक कार्यक्रम संचालित किए हैं. महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलम्बन के लिए संचालित भारत सरकार के कार्यक्रमों को राज्य सरकार द्वारा प्रभावी ढंग से लागू किया गया है.  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शारदीय नवरात्र से ‘मिशन शक्ति’ कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया है. शारदीय नवरात्र का पर्व माँ भगवती के प्रति श्रद्धालुओं की सनातन आस्था को सुदृढ़ करता है. शारदीय नवरात्र के द्वितीय दिवस पर उनके द्वारा महिला जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ‘मिशन शक्ति’ कार्यक्रम को अलग-अलग विभागों द्वारा कार्ययोजना बनाकर संचालित किया जा रहा है.

इस अवसर पर मुख्य सचिव आर.के. तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस.पी गोयल, प्रमुख सचिव पंचायती राज मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव नगर विकास दीपक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.