corona
File Photo

    लखनऊ. प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से कम हो रहे हैं। पिछले 24 घंटों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के 208 ही नए मामले आए हैं जो पिछले तीन माह में सबसे कम संक्रमण के केस हैं। ट्रिपल टी (Triple T), टीकाकरण (Vaccination) और सुनियोजित नीति के कारण आज प्रदेश में एक ओर संक्रमण की रफ्तार थमी है तो वहीं रिकवरी रेट (Recovery Rate) 98.5 फीसदी हो गई है, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.09 प्रतिशत रह गई है। प्रदेश में अब तक 16 लाख 78 हजार 788 लोग कोरोना मुक्त हो चुके हैं।

    प्रदेश में अब तक पांच करोड़ 59 लाख 99 हजार 840 कोरोना की जांच की जा चुकी है, जबकि पिछले 24 घंटों में प्रदेश में दो लाख 69 हजार 472 कोविड की जांच की गई। सर्वाधिक आबादी वाले प्रदेश ने अन्य राज्यों के मुकाबले कोरोना वायरस को मात देने में सफलता पाई है।

    प्रदेश में 528 ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाने हैं

    उत्तर प्रदेश ऑक्सीजन उत्पादकता के मामले में आत्मनिर्भर हो रहा है। प्रदेश के सभी 75 जनपदों में सवा पांच सौ से अधिक ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं। प्रदेश में 528 ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाने हैं जिसमें से अब 110 प्लांट क्रियाशील हो चुके हैं। पहली बार सरकार के साथ निजी संस्थाओं ने आगे बढ़कर यूपी में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के प्रयास तेज किये हैं। पूर्व में जहां प्रदेश में केवल 25 ऑक्सीजन प्लांट ही स्थापित थे वहीं आज योगी सरकार ने 528 ऑक्सीजन प्लांट को स्थापित करने की प्रक्रिया को जमीनी स्तर पर तेज कर दिया है।

    एक पॉजिटिव केस पर 32 लोगों की हो रही जांच

    विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के बाद उत्तर प्रदेश ने टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर जोर दिया। प्रदेश में प्रति एक पॉजिटिव केस पर 32 लोगों की जांच की जा रही है। परीक्षण नमूनों के पैमाने पर जहां महाराष्ट्र में प्रति सकारात्मक मामले की पुष्टि होने पर 6.4 टेस्ट किए जा रहे हैं वहीं कर्नाटक में 11.5, केरल में 8, दिल्ली में 14, तमिलनाडु में 12.8 और आंध्र प्रदेश में प्रति पॉजिटिव केस मिलने पर 11.4 टेस्ट किए जा रहे हैं। जबकि उत्तर प्रदेश में प्रति पॉजिटिव केस 32.8 जांच करने में सक्षम हैं।