Ashwini Kumar Choubey

प्रयागराज (उप्र). नए कृषि कानूनों (Agriculture Laws) को लेकर चल रहे किसान आंदोलन (Farmer Protest) पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) ने बृहस्पतिवार को कहा कि किसानों की आड़ में लगभग सभी विपक्षी दल अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे हैं जोकि अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। चौबे ने यहां सर्किट हाउस में संवाददाताओं से कहा, “चाहे वह कांग्रेस हो, कम्युनिस्ट हो, सपा हो, बसपा हो या राजद हो, इनके पास देश में मुद्दे नहीं हैं और ये लोगों में भ्रम फैलाने में लगे हैं। आजादी के बाद 70 सालों तक इन्होंने किसानों को बरगलाया है और सुधार का काम केन्द्र की मोदी सरकार पर छोड़ दिया था।”

उन्होंने कहा, “पिछले छह साल से हम उस काम को कर रहे हैं तो अब इनके पेट में दर्द हो रहा है कि सारा काम ये कर जाएंगे। सितंबर में संसद में जब बहस हो रही थी तो एक भी दिन इन्होंने चर्चा में भाग नहीं लिया। क्या विरोधी दल का यही काम है। जब पटल पर कानून आया तो उल्टे इन्होंने राज्यसभा में हंगामा किया, तोड़फोड़ की।”

चौबे ने इस दौरान कोरोना से लड़ाई को लेकर सरकार की तैयारियों का जिक्र करते हुए कहा कि चंद महीने में कोरोना का टीका बाजार में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि टीका विकसित करने में चार संस्थान- फाइजर, सीरम, भारत बायोटेक और कैडिला लगे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि जो भी टीका आयेगा उसका 20 प्रतिशत गरीब देशों को देने की सहमति बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि देश में चरणबद्ध तरीके से कोरोना का टीका लगाया जाएगा। इसके लिए तीन समूह को सबसे पहले टीकाकरण के दायरे में लाया जाएगा।

मंत्री ने बताया, “पहले समूह में एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मी हैं जिनमें आशा बहनों से लेकर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता तक शामिल हैं। वहीं दूसरे समूह में दो करोड़ अग्रिम मोर्चे के कर्मी होंगे जिनमें चिकित्सक, पुलिसकर्मी, आपदा प्रबंधन कर्मी, होमगार्ड के जवान आदि होंगे। तीसरे समूह को दो वर्गों में बांटा में गया है जिसमें पहले समूह में 50 वर्ष की आयु से ऊपर के 27 करोड़ लोग हैं। इस वर्ग में अधिक जोखिम वाले रोगियों को टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाएगी।”

उन्होंने बताया कि टीके के वितरण की 90 प्रतिशत तैयारी पूरी हो चुकी है। कोरोना को हराने के लिए बूथ स्तर की व्यवस्था की जा रही है। देशभर में ऐसे लाखों बूथ बनेंगे जहां टीका दिया जायेगा। देशभर में टीका लगाने वाले 2.39 लाख लोग हैं जिसमें 1.54 लाख एएनएम को वैक्सीन देने की तैयारी में लगाया गया है।

चौबे ने कहा कि अगले छह से आठ महीने के भीतर 30 करोड़ लोगों को टीका लगाने की तैयारी सरकार ने की है और इसके लिए 60 करोड़ खुराक (एक व्यक्ति को दो खुराक) देने की तैयारी है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण केंद्र पर हर तरह की बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। टीका लगाने के बाद व्यक्ति आधा घंटे तक विशेषज्ञ की निगरानी में रहेगा जिससे किसी तरह के दुष्प्रभाव का उपचार किया जा सके। (एजेंसी)