UP-pratapgarh

    प्रतापगढ़ (उप्र): उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जिले में रानीगंज (Raniganj) विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक अभय कुमार उर्फ धीरज ओझा (BJP MLA Abhay Kumar alias Dheeraj Ojha) के प्रदर्शन का एक वीडियो सोशल मीडिया के जरिए कई लोगों का ध्यान आकर्षित कर रहा है।

    ओझा ने बुधवार दोपहर को डीएम कार्यालय के बाहर जमकर हंगामा किया। विधायक अपने कार्यकर्ताओं के साथ मतदाता सूची में अनियमितता का आरोप लगाकर डीएम चेंबर में धरने पर बैठे हुए थे। जब एसपी और डीएम कार्यालय पहुंचे तो वहां करीब 15 मिनट तक चेंबर के भीतर हाई वोल्टेज ड्रामा शुरू था। चेंबर से बाहर निकलने के बाद देखा गया कि भाजपा विधायक धीरज ओझा के शरीर पर कपड़े नहीं थे। 

    पूछे जाने पर ओझा ने आरोप लगाया कि एसपी ने उनके साथ हाथापाई की और उनकी पिटाई कर दी। विधायक ने आरोप लगाया कि एसपी ने उन्हें मारा-पीटा और धमकाया भी। इस आरोप के बाद विधायक के कार्यकर्ताओं की डीएम आवास पर भारी भीड़ उमड़ पड़ी। 

    प्रतापगढ़ जिले के एसपी ने कहा, “ओझा वोटर लिस्ट में गड़बड़ी का आरोप लगाकर यहां धरने पर बैठे थे। जब मैंने उन्हें ऐसा दुर्व्यवहार करने से मना किया तो वह कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर मुझ पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। इस पूरे प्रकरण से पुलिस का कोई लेना-देना नहीं है।”

    सारे हंगामे के बाद धीरज ओझा अपनी फटी कमीज को हाथ में लहराते डीएम आवास पर जोर-जोर से चिल्लाते रहे। वो कह रहे थे कि, “प्रतापगढ़ के एसपी ने मुझे बहुत मारा। विधायक को मारा! मेरी कोई गलती नहीं है!”