vaccine
Representational Pic

    मिर्जापुर (उत्तर प्रदेश). उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मिर्जापुर जिले (Mirzapur District) के लालगंज क्षेत्र में कोरोना वायरस (Coronavirus) रोधी टीका लगवाने के दो दिन बाद एक मजदूर की मौत हो गई, लेकिन चिकित्सकों को मौत का टीकाकरण से कोई संबंध नहीं मिला है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ पी. डी. गुप्ता ने बृहस्पतिवार को बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में 38 वर्षीय लालमणि की मौत का कारण ‘ब्रेन हैमरेज’ पाया गया है। डॉ गुप्ता ने यह भी कहा कि व्यक्ति के लिवर (जिगर) और प्लीहा में अत्यधिक सूजन मिली है।

    लालमणि लालगंज थाना क्षेत्र के बहुती बसईटा गांव का निवासी था। उसे लालगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर सोमवार को कोविड-19 रोधी टीका लगाया गया था। उसकी पत्नी मीरा का आरोप है कि टीका लगवाने के बाद उसने शरीर में दर्द और सुस्ती की शिकायत की थी और बुधवार सुबह स्थिति बिगड़ने पर उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।

    उन्होंने कहा कि वहां उसे दवा दी गई, जिसके बाद उल्टी हुई और फिर उसकी मौत हो गई। मीरा के आरोपों के बाद शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया और उसी रात इसकी रिपोर्ट भी आ गई। सीएमओ ने कहा कि पोस्टमॉर्टम करने वाले चिकित्सकों की राय है कि मस्तिष्क में अत्यधिक रक्तस्राव के कारण मौत हुई। (एजेंसी)