यूपी पहुंचते ही धरने पर बैठी प्रियंका, मोदी और योगी पर कानून व्यवस्था को लेकर बरसीं

    राजेश मिश्र

    लखनऊ. लंबे समय के बाद उत्तर प्रदेश पहुंची कांग्रेस महासचिव (Congress General Secretary) और प्रदेश प्रभारी (State In-Charge) प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) अपने स्वागत जुलूस के दौरान ही राजधानी (Capital) में गांधी प्रतिमा (Gandhi Statue) पर मौन धरने पर बैठ गयीं। प्रियंका ने पंचायत चुनाव (Panchayat Elections) में सरकार प्रायोजित हिंसा और दबंगई के विरोध में घंटे भर का मौन व्रत गांधी प्रतिमा पर किया। 

    उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र का चीरहरण हो रहा है

    महज सात महीने बाद होने जा रहे उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की चुनावी तैयारियों को परखने के मद्देनज़र राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी तीन दिन के दौरे पर लखनऊ पहुंची हैं। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रियंका ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का यूपी की कानून व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री योगी की तारीफ करना दुर्भाग्यपूर्ण है जबकि यहां पंचायत चुनावों में महिलाओं के कपड़े तक खींचे गए और पुलिस ने लोगों का अपहरण किया। प्रियंका ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र का चीरहरण हो रहा है। कांग्रेस महासचिव ने कोरोना प्रबंधन पर मोदी की यूपी सरकार की तारीफ पर आश्चर्य जताते हुए कहा कि लोगों को दवा, ऑक्सीजन  और यहां तक कि अंतिम संस्कार भी नहीं मिला। इससे पहले लखनऊ में पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी का जोरदार स्वागत किया। प्रियंका ने प्रदेश के कई किसान संगठनों के नेताओं से मुलाकात की और उनसे कृषि कानूनों एवं किसानों की अन्य समस्याओं पर चर्चा की। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि पार्टी किसानों के साथ मजबूती से खड़ी है। प्रियंका ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के परिसर में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया। 

    गौरतलब है कि प्रियंका की कोशिश ‘मिशन यूपी’ के तहत 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की दमदार मौजूदगी दर्ज करवाने की है। प्रियंका हर महीने के ज़्यादातर दिन अब लखनऊ में रहेंगी।  दौरे के पहले दिन प्रियंका ने कांग्रेस की प्रदेश इकाई के पदाधिकारियों से मुलाकात की। उसके बाद जिला और शहर अध्यक्षों से मिलने का कार्यक्रम है। प्रियंका कांग्रेस के फ्रंट संगठनों के कार्यकर्ताओं और कुछ किसान संगठनों से भी मिलेंगी।  इसके अलावा छात्र संगठनों, शिक्षकों और ठेके पर काम करने वाले कर्मचारियों के संगठनों से भी वह बातचीत करेंगी। 

    प्रियंका लखनऊ में पूर्व राज्यपाल और पार्टी की वरिष्ठ नेता रहीं शीला कौल के आवास में रहेंगी। इस आवास में रंग-रोगन से लेकर बाकी जरुरी काम किए जा चुके हैं और इसे प्रियंका की कांग्रेस कार्यकर्ताओं संग बैठकों के लिए तैयार किया गया है। यह आवास गोखले मार्ग पर है जो उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय से तीन किमी. की दूरी पर है।