RTPCR test fee fixed at Rs 1600 in private laboratories

लखनऊ. उत्तर प्रदेश चिकित्सा विभाग ने निजी प्रयोगशालाओं द्वारा कोरोना की आरटी-पीसीआर जांच का शुल्क 2500 रुपये से घटाकर 1600 रूपये कर दिया है। अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बृहस्पतिवार शाम जारी एक आदेश में कहा गया कि वर्तमान में आरटी पीसीआर टेस्ट किट रिजेंट्स तथा वीटीएम किट के दामों में गिरावट होने के कारण शुल्क में कमी की गई है। आदेश में कहा गया है कि ट्रूनेट मशीन के जरिये जांच के लिए भी 1600 रुपए शुल्क ही लिया जाएगा। यह आदेश सभी निजी क्षेत्र की प्रयोगशालाओं के लिए हैं।

शुल्क से अधिक धनराशि वसूली को महामारी रोग अधिनियम 1897 एवं उत्तर प्रदेश महामारी कोविड-19 विनियमावली 2020 के प्रावधानों का उल्लंघन माना जाएगा। बयान के अनुसार यह आदेश तुरंत प्रभाव से लागू होगा । विभाग ने कोरोना की आरटी- पीसीआर जांच के लिए बीती अप्रैल माह में 2500 रुपये शुल्क निर्धारित किया था।

सूचना निदेशक शिशिर ने शुक्रवार को बताया कि ”बृहस्पतिवार को उप्र में 1,50, 652 परीक्षण किये गये । इस तरह अब तक प्रदेश में 72,17,980 परीक्षण किये गये है । बृहस्पतिवार को किये गये 1,50,652 परीक्षणों में से पचास हजार परीक्षण सरकारी प्रयोगशालाओं में आरटीपीसीआर के माध्यम से किये गये । उन्होंने कहा कि भारत में सर्वाधिक परीक्षण उप्र में किये जा रहे है।(एजेंसी)