yogiji

    गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा है कि महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय और स्टेडियम का निर्माण कार्य शीघ्रता से पूरा किया जाए। इस दौरान यह ध्यान रहे कि गुणवत्ता (Quality) से समझौता किसी भी दशा में नहीं होना चाहिए। जल्द से कार्य पूर्ण कर इस शैक्षिक सत्र (Academic Session) से महाविद्यालय में पठन-पाठन शुरू कर देना है।

    बुधवार दोपहर को गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी गोरखनाथ मंदिर में पूजन अर्चना के बाद रसूलपुर चकिया, जंगल कौड़िया में महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय व स्टेडियम का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने महाविद्यालय के सभी कमरों और छात्रावास का जायजा लिया। यहां 90 की क्षमता का बालक और 60 की क्षमता का बालिका छात्रावास बन रहा है। 

    छात्रावास में हर प्रकार की जरूरी सुविधाएं होनी चाहिए

    निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि छात्रावास में हर प्रकार की जरूरी सुविधाएं होनी चाहिए। उन्होंने क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि वे हर सप्ताह यहां चल रहे कार्यों का निरीक्षण करें और एक-एक कर सभी कार्यों को फाइनल करते रहें। गुणवत्ता का विशेष ध्यान रहे। सीएम योगी ने कहा कि इस सत्र से महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय में पढ़ाई शुरू हो जानी चाहिए ताकि क्षेत्र के युवाओं को उच्च शिक्षा का एक नया मंच मिल सके। 30.34 करोड़ रुपये (जीएसटी अतिरिक्त) की लागत से बन रहे महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय का निर्माण उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम द्वारा कराया जा रहा है। कुल भौतिक प्रगति 80 प्रतिशत है। इसके मुख्य भवन का कार्य 93 प्रतिशत पूरा हो चुका है। बालक व बालिका छात्रावास का निर्माण भी क्रमशः 95 व 93 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। उधर 10.16 करोड़ रुपये (जीएसटी अतिरिक्त) की लागत से बन रहे महंत अवेद्यनाथ जी महाराज स्टेडियम का निर्माण भी 70 प्रतिशत पूरा कर लिया गया है। स्टेडियम में 250 लोगों की क्षमता का पवेलियन भी बन रहा है। स्टेडियम में मिट्टी समतलीकरण का काम 95 फीसदी हो चुका है।