File Photo
File Photo

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना (Corona) के तेज संक्रमण और बढ़ते रिकवरी दर (Recovery Rate) के बीच योगी सरकार (Yogi Government) स्वास्थ्य विशेषज्ञों की एक टीम गठित करने जा रही है। एसजीपीजीआई, केजीएमयू, अटल बिहारी वाजपेयी, आरएमएल इंस्टिट्यूट जैसे प्रतिष्ठित चिकित्सा संसाधनों के डॉक्टर सलाहकार समिति में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने इस संबंध में चिकित्सा शिक्षा विभाग और स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। 

    सोमवार को टीम-09 की बैठक में सीएम योगी ने कहा कि कोविड का वर्तमान स्ट्रेन लगातार रूप बदल रहा है। यह पहली लहर की तुलना में 30 से 50 गुना अधिक संक्रामक है। कुछ केस में देखा गया है कि कोविड के ट्रू नैट, एंटीजन अथवा आरटीपीसीआर टेस्ट में भी इसकी पुष्टि नहीं हो रही है, जबकि सीटी स्कैन में पता लग रहा कि उसके लंग्स कोविड से प्रभावित हैं। लक्षणविहीन लोगों में भी ऐसी समस्या देखी गई है। ऐसे में हमें और सतर्कता के साथ काम करने की जरूरत है।

    उन्होंने कहा कि कोविड पर प्रभावी नियंत्रण और आवश्यक रणनीति के लिए राज्य स्तर पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों का एक सलाहकार पैनल तैयार किया जाए। यह पैनल राज्य स्तरीय टीम-09 को समय-समय पर परामर्श दे सकेगी। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का परामर्श रणनीति तैयार करने में उपयोगी होगा।