Tejashwi

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के पहले आरजेडी को बड़े झटके लगे है. पार्टी के वरिष्ठ नेता और लालू परिवार के संकट मोचन कहे जाने वाले रघुवंश प्रसाद ने उपाध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया. इसी के साथ पांच विधान परिषद पार्षदों ने भी आरजेडी को छोड़, जेडीयू में शामिल हो गए है. अपने विधायकों द्वारा पाला बदलने पर आरजेडी नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नितीश कुमार पर तंज कसा है. उन्होंने कहा, ” मुख्यमंत्री ने इस कोरोना काल में यही एक कंस्ट्रक्टिव काम किया है.’

विधायकों को तोड़ने पर बधाई 
पत्रकारों से बात करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा, ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो बड़ा कंस्ट्रक्टिव वर्क इस कोरोना काल में किया है, उसके लिए उन्हें मैं ढेर सारी शुभकामनाएं देता हूँ.  मुख्यमंत्री जी ने हमारे पांच विधानपार्षदों को तोड़कर बहुत बड़ा काम किया है.’ उन्होंने कहा, ‘मनोवैज्ञानिक तौर पर नीतीश कुमार जी अपनी इस कामयाबी के बाद खुद को मजबूत समझ रहे होंगे.’ 

आगे कहा, ‘लेकिन चुनाव के वक़्त जनता उनसे सवाल जरूर पूछेगी कि पिछले 90 दिनों में आपने जनता की तकलीफों को जानने के लिए उनके बीच नहीं पहुंचे, पर राजनीतिक फायदे के लिए पांच विधानपार्षदों को तोड़ा.’

जनता नेता बनती है ना की नेता जनता 
पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा, ‘चुनाव के वक़्त नेता आते जाते रहते है, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता. लेकिन जेडीयू जिस तरह से काम कर रही है उसे जनता देख रही है.’ उन्होंने कहा, ‘ सभी जानते है, मुख्यमंत्री नितीश कुमार भी जानते है जनता नेता बनती है, ना की नेता जनता.’   

रघुवंश प्रसाद को मनाएंगे तेजस्वी 
पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा देने वाले रघुवंश प्रसाद सिंह को तेजस्वी यादव मनाएंगे. बतादें कि लालू और रघुवंश के कट्टर विरोधी रहे बाहुबली नेता रामा सिंह के पार्टी में शामिल किये जाने से आहत सिंह ने अस्पताल से ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पटना एम्स में उनका इलाज चल रहा है.