suicide

फतेहपुर (उप्र).  उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर जिले के हथगाम क्षेत्र में कथित आर्थिक तंगी से परेशान होकर पांच दिन पहले एक युवक के जहर खाकर आत्महत्या करने के बाद उसकी पत्नी ने सदमे की वजह से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली ।

हथगाम थाना के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) आदित्य सिंह ने बुधवार को बताया कि क्षेत्र के कसरांव गांव के मजरे हुलासी के पुरवा में मोनी देवी (20) नामक नवविवाहिता ने मंगलवार को अपने मायके में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इससे पहले, 15 अक्टूबर को त्योंजा गांव में उसके पति हरिमोहन (24) ने जहर खाकर खुदकुशी की थी । उन्होंने बताया कि दोनों की शादी को करीब चार महीने ही हुए थे। सिंह ने दंपति के परिजन के हवाले से बताया कि हरिमोहन मुंबई में एक निजी कंपनी में काम करता था, लॉकडाउन में कंपनी बंद होने पर वह घर लौट आया। इसी दौरान 30 जून को मोनी देवी से उसकी शादी हुई थी।

उन्होंने बताया कि आर्थिक तंगी से परेशान होकर हरिमोहन काम की तलाश में हाल ही में दिल्ली गया था, लेकिन काम न मिलने पर वापस लौट आया और 15 अक्टूबर को जहर खाकर आत्महत्या कर ली।दूसरी ओर मोनी की मां अनारकली ने पुलिस को बताया कि दामाद के आत्महत्या करने के बाद वह 18 अक्टूबर को बेटी को अपने साथ घर ले आयी थी। बेटी ने सदमे की वजह से खाना-पानी बंद कर दिया था और मंगलवार को उसने सूने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।पुलिस ने बताया कि पोस्टमॉर्टम कराने के बाद मृतका का शव उसकी मां को सौंप दिया गया है।