UP film city to be on the lines of Hollywood studios, work to begin in February

राजेश मिश्र

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) के ड्रीम प्रोजेक्ट नोएडा फ़िल्मसिटी (Noida Film City) में हॉलीवुड (Hollywood) के मशहूर स्टूडियो की तरह सभी उच्च स्तरीय सुविधाएं (High Level Facilities) होंगी। फ़िल्मसिटी (Film City)  को बनाने के लिए दुनिया के जाने माने स्टूडियों (Famous Studios) की स्टडी (Study) की गयी है। फ़िल्मसिटी पर काम फरवरी ( February) मध्य में शुरु हो सकता है।

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में बनने वाली नयी फ़िल्मसिटी  में एनीमेशन फिल्में और वेबसिरीज बनाने की सभी सुविधाएं दी जाएंगी। ग्रेटर नोएडा के यमुना एक्सप्रेस वे अथारिटी में बन रही इस फ़िल्मसिटी को तैयार करने से पहले अमेरिका के 20वीं सेंचुरी फाक्स, वार्नर ब्रदर्स, वाल्ट डिज्नी पिक्चर्स और भारत की रामोजी फिल्म सिटी के स्टूडियो का अध्ययन किया गया है। ग्रेटर नोएडा फ़िल्मसिटी की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) हॉलीवुड की जानी मानी कंपनी सीबीआरई बना रही है। फ़िल्मसिटी  यमुना एक्सप्रेस वे के सेक्टर 21 में 100 एकड़ में बन रही है।

प्रदेश सरकार ने कई फिल्म निर्देशकों, निर्माताओं और कलाकारों से चर्चा की 

अमेरिकन कंपनी की ओर से बनने वाले ड्राफ्ट में बच्चों के लिए कार्टून फिल्म बनाना हो, वेब सीरीज हो या फिर किसी क्षेत्रीय भाषा की फिल्म, नोएडा फिल्म सिटी में इन सबका ध्यान रखा जाएगा। आउटडोर शूटिंग के साथ ही थीम पार्क सहित कई आधुनिक सहूलियतों का विवरण इस ड्राफ्ट में होगा। उत्तर प्रदेश में बने वाली यह फ़िल्मसिटी देश में सबसे बड़ी होगी। फ़िल्मसिटी को लेकर प्रदेश सरकार ने देश के कई जाने माने फिल्म निर्देशकों, निर्माताओं और कलाकारों से चर्चा की है। फ़िल्मसिटी में फिल्म निर्माण से जुड़े लोगों के आवास के साथ उद्यमों के लिए भी भूखंडों का आवंटन किया जाएगा। अमेरिकन कंपनी ने फ़िल्मसिटी के लिए अपनी फिजिबिलिटी रिपोर्ट में हॉलीवुड के यूनिवर्सल पिक्चर्स में फिल्म स्टूडियो और थीम पार्क के साथ, 20वीं सेंचुरी फॉक्स, वार्नर ब्रदर्स पिक्चर्स, वॉल्ट डिज्नी पिक्चर्स की स्टडी की। साथ में ही दक्षिण भारत के रामोजी राव फिल्म सिटी के साथ मुंबई में बॉलीवुड के फिल्म स्टूडियो में मौजूद सुविधाएं, सहूलियत के साथ तकनीक को देखते हुए भविष्य में देश की सबसे बड़े फ़िल्मसिटी के रूप में नोएडा फ़िल्मसिटी को विकसित करने की बातें रिपोर्ट में थी।

3 विकल्पों पर विचार

सीबीआरई की फिजीबिलिटी रिपोर्ट मिलने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार फ़िल्मसिटी बनाने के 3 विकल्पों पर विचार कर रही है। यमुना एक्सप्रेस वे डेवलपमेंट अथॉरिटी (यीडा) के सीईओ अरुणवीर सिंह के मुताबिक, अमेरिकन कंपनी के ड्राफ्ट की मंजूरी के बाद इसे विकसित करने के लिए 3 मॉडल तय हुए हैं।

  • पहला, यीडा इसे खुद से विकसित करे और एक-एक को प्लॉट आवंटित करे।
  • दूसरा, यीडा किसी एक कंपनी को फ़िल्मसिटी की पूरी जमीन आवंटित कर दे और वही उसे विकसित करे।
  • तीसरा, पीपीपी मॉडल पर विकसित किया जाए, जिसमें जमीन यीडा की होगी और विकास कार्य निजी कंपनी करेगी। इन तीनों विकल्पों में से एक का चयन प्रदेश सरकार करेगी। 

अमेरिकन कंपनी डीपीआर बनाएगी

बीते सप्ताह ही फ़िल्मसिटी का डीपीआर बनाने के लिए यीडा और सीबीआरई के बीच करार पर हस्ताक्षर किए गए हैं। डीपीआर से पहले सीबीआरई एक ड्राफ्ट बनाकर अथॉरिटी को फरवरी मध्य तक प्रस्तुत करेगी। प्रदेश सरकार की तरफ से ड्राफ्ट को मंजूरी मिलने के बाद अमेरिकन कंपनी डीपीआर बनाएगी।