राजनाथ सिंह का बड़ा दावा, कहा-भाजपा 2022 के विधानसभा चुनाव में 2017 से भी ज्यादा सीटें जीतेगी

    लखनऊ: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को दावा किया कि 2022 में होने वाले उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी 2017 की अपेक्षा अधिक सीटों पर विजय प्राप्‍त करेगी। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में कुल 403 सीटें हैं, 2017 में हुये विधानसभा चुनाव में भाजपा को 312 सीटें जबकि इसके सहयोगी अपना दल (एस) और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी को क्रमश: नौ एवं चार सीटें मिली थी।     

    रक्षा मंत्री ने भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के उद्घाटन भाषण में कहा, ‘‘भाजपा में सबसे ताकतवर पन्‍ना प्रमुख (भाजपा की सबसे निचली इकाई) हैं और समीक्षा करेंगे तो पाएंगे तो यह सिर्फ सत्ता हासिल करने वाले कार्यकर्ताओं का झुंड ही नहीं बल्कि एक जीवंत पार्टी है, जिसका एक राजनीतिक दर्शन है।” उन्होंने कहा, ‘‘आप सीना ठोंक कर कह सकते हैं कि दार्शनिक अवधारणा लेकर भाजपा आगे बढ़ी है और सभी दलों का विभाजन हुआ लेकिन आज तक भाजपा का एक बार भी विभाजन नहीं हुआ है।”

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के कार्यों की सराहना करते हुए सिंह ने किसानों से कहा कि किसी भी समस्या का समाधान बातचीत के जरिये हो सकता है। उन्होंने कहा कि ” भाजपा का संकल्प किसानों की आमदनी दोगुनी करना है और किसी भी सूरत में न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) समाप्त नहीं होगा। हम सभी किसान परिवार के ही हैं और कृषि जगत के हित के लिए जो होगा उसके संशोधन और समाधान के लिए हम तैयार हैं।”   

    गौरतलब है कि केंद्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली की कई सीमाओं पर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के किसान सौ दिन से ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे हैं । रक्षा मंत्री ने चीन के मामले का जिक्र करते हुए कहा, ‘’हमारी सेना के जवानों ने शौर्य और पराक्रम के साथ संयम का परिचय दिया है और हम किसी पर आक्रमण करना नहीं चाहते हैं लेकिन अपनी भूमि पर कब्‍जा बर्दाश्त नहीं कर सकते।”सिंह ने दावा किया कि ‘भारत को वैश्विक महाशक्ति बनने से दुनिया की कोई ताकत रोक नहीं सकती है।’   

    उन्होंने कहा, ‘मैं उत्‍तर प्रदेश की राजनीति में लंबे समय से जुड़ा हूं और जब प्रदेश के कार्यकर्ताओं से बातचीत का अवसर मिलता तो मैं खुद को पद और कद की सीमाओं में नहीं बांधता, मैं यह कहना चाहूंगा कि व्‍यक्ति पद और कद से बड़ा नहीं होता बल्कि व्यक्ति का कद कृतियों के कारण बड़ा होता है।” सिंह ने कार्यकर्ताओं को प्रेरित करते हुए कहा कि भाजपा में आप कह नहीं सकते कि आपके साथ अन्याय हो रहा है। सिंह ने कहा कि ”राजनीतिक क्षेत्र में कार्य करते हुए मैंने कुछ मांगा नहीं, श्रम किया और जो श्रम करेगा उसे प्रतिष्ठा हासिल होगी।”  

    पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय और अटल बिहारी वाजपेयी के स्मरण के साथ जनसंघ और भाजपा की राजनीतिक यात्रा की चर्चा करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि ” हम सब भाग्यशाली हैं कि हमें भाजपा का कार्यकर्ता बनने का अवसर मिला।” राजनीति में विश्वसनीयता के संकट पर केंद्रित होते हुए पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि राजनीति में विश्वसनीयता सबसे बड़ी पूंजी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कसौटी पर खरे उतरे हैं। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाने, तीन तलाक और अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर के शिलान्यास के उदाहरण के साथ उन्होंने कहा कि ‘हमारी विश्वसनीयता पर किसी तरह की आंच नहीं आई है। हम राजनीति जाति, पंथ और मजहब की नहीं, इंसान और इंसानियत की करते हैं।”  

    भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश की कार्यसमिति की बैठक सोमवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में शुरू हुई। बैठक का शुभारंभ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किया। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व दिनेश शर्मा समेत अन्य नेता मौजूद रहे। शाम को बैठक का समापन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। कार्यसमिति की बैठक में अपने अध्यक्षीय संबोधन में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि कोरोना के बाद यह पहली बैठक हो रही है। जनसंघ और भाजपा की यात्रा का सिलसिलेवार वर्णन करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने बसपा और सपा पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के शासन में अंगूठे से लेकर सिर तक भ्रष्‍टाचार था।   

    सपा सांसद आजम खान का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि ”विश्वविद्यालय के नाम पर जमीन हड़पने वाले लोग आज जेल में हैं और जमीन हड़पने वाले के पक्ष में एक परिवार (सपा अध्यक्ष) के लोग साइकिल यात्रा निकाल रहे हैं। 2022 में हम प्रचंड बहुमत से चुनाव जीतेंगे।” स्वतंत्र देव ने कहा कि हम पंचायत चुनाव की पूर्व संध्‍या पर खड़े हैं और सभी चुनाव भाजपा जीतेगी।